माता वैष्णो देवी जाने वाले भक्तों के लिए खुशखबरी, इस दिन से शुरु होगी हेलीकॉप्टर सेवा, जानें किराया

NationalTrendingViral News

माता वैष्णो देवी के भक्तों के लिए बड़ी खुशखबरी है. तीर्थयात्रियों को जम्मू से मां वैष्णोदेवी के लिए हेलीकॉप्टर सेवा की विशेष सुविधा दी जाएगी. विशेष दर्शन के इच्छुक तीर्थयात्रियों को शीघ्र सुविधा प्रदान करने के लिए श्राइन बोर्ड 18 जून, 2024 से जम्मू से सांझी छत हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करेगा. श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की तरफ से इसके लिए दो पैकेज की पेशकश की गई है.

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंशुल गर्ग ने कहा कि एसएमवीडीएसबी (SMVDSB) उन तीर्थयात्रियों के लिए जम्मू से सांझी छत हेलीकॉप्टर सेवा शुरू कर रहा है जो एक दिन में दर्शन करना चाहते हैं.

श्राइन बोर्ड की तरफ से हेलीकॉप्टर सुविधा के लिए 2 पैकेज

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए श्राइन बोर्ड दो प्रकार के पैकेज पेश करेगा- पहला सेम डे रिटर्न और दूसरा नेक्स्ट डे रिटर्न का पैकेज है. मां के भक्तों को ‘सेम डे रिटर्न’ (एसडीआर) पैकेज के लिए प्रति व्यक्ति 35,000 रुपये खर्च करने होंगे. वहीं दूसरे पैकेज ‘नेक्स्ट डे रिटर्न’ (एनडीआर) में भक्तों को 50,000 रुपये प्रति व्यक्ति का खर्च आएगा.

सेम डे रिटर्न और नेक्सट डे रिटर्न पैकेज में क्या?

अधिकारियों ने इस संबंध में विवरण साझा करते हुए कहा है कि एसडीआर यानी सेम डे रिटर्न पैकेज में तीर्थयात्रियों को पंछी हेलीपैड पहुंचने पर भवन तक बैटरी कार सेवा, एक विशेष दर्शन पर्ची, ‘प्रसाद’, भैरों मंदिर में प्रार्थना करने के लिए केबल कार के लिए प्राथमिकता टिकट की सुविधा दी जाएगी. पंछी हेलीपैड तक पहुंचने के लिए वापसी पर कार सेवा, और जम्मू हवाई अड्डे तक हेलीकॉप्टर की सवारी की सुविधा होगी.

श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने आगे कहा कि एनडीआर (NDR) यानी नेक्स्ट डे रिटर्न पैकेज में सभी एसडीआर (SDR) सुविधाओं के अलावा भवन और ‘अटका आरती’ के कमरे शामिल हैं. विशेष रूप से, हेलीकॉप्टर सेवा वर्तमान में केवल कटरा और सांझी छत के बीच उपलब्ध है, जिसका एक तरफ का किराया 2100 रुपये प्रति व्यक्ति है.

Rajkumar Raju

5 years of news editing experience in VOB.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected!

हमें विज्ञापन दिखाने की आज्ञा दें।