नालंदा में भीषण गर्मी से एक छात्रा समेत दो पुलिसकर्मी बेहोश, अस्पताल में चल रहा इलाज

NalandaBiharWeather

बिहार में हीट वेव का कहर देखने को मिल रहा है. इस बीच नांलदा में भी भीषण गर्मी के कारण एक छात्रा समेत दो पुलिस कर्मी बेहोश हो गई. तीनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बता दें कि जिले में पारा 44 डिग्री तक पहुंच गया है।

अचानक बेहोश होकर गिरी छात्रा: मिली जानकारी के अनुसार, नालंदा में भीषण गर्मी की वजह से सरकारी स्कूलों के बच्चों की हालात खराब हो गई थी. इसी कड़ी में जिले के अस्थावां प्रखंड के जंगीपुर प्राथमिक विद्यालय में 5वीं कक्षा की छात्रा अचानक से बेहोश होकर गिर गई. जिससे स्कूलों में अफरा तफ़री का माहौल हो गया. स्कूल के शिक्षकों ने किसी तरह बच्ची के चेहरे पर पानी का छिड़काव कर उसे होश में लाया. फिर उनके परिजन को सूचित कर उनके हवाले कर दिया. जिसके बाद परिजनों ने जंगीपुर गांव की 5वीं कक्षा की छात्रा नेहा कुमारी को अस्पताल में भर्ती कराया।

दो महिला पुलिस कर्मी हुई बेहोश: वहीं, दूसरा मामला मुख्यालय बिहारशरीफ के सोहसराय थाना क्षेत्र का है. जहां आखिरी चरण के चुनाव के लिए जिला प्रशासन ने शांति एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में चुनाव संपन्न कराने के उद्देश्य से शहर में फ़्लैग मार्च निकाला था. इस फ़्लैग मार्च में शामिल दो महिला पुलिस कर्मी बेहोश होकर सड़क पर गिर पड़ी, जिसे 112 आपातकाल सेवा की पुलिस ने सहयोगियों की मदद से सदर अस्पताल बिहारशरीफ में भर्ती कराया. जिनका इलाज जारी है. घायल महिला पुलिस कर्मियों में प्रियंका कुमारी और अमीषा कुमारी शामिल है।

दो दर्जन छात्राओं की तबीयत बिगड़ी: बता दें कि बिहार में भीषण गर्मी के बावजूद इस बार स्कूलों में छुट्टी नहीं हुई है. ऐसे में कई बच्चे लगातार लू की चपेट में आ रहे हैं. बुधवार को शेखपुरा के मध्य विद्यालय मनकोल में एक के बाद एक दो दर्जन छात्राएं बेहोश होकर विद्यालय परिसर में गिरने लगी. घटना के बाद विद्यालय प्रशासन के हाथ-पैर फूलने लगे. फौरन इसकी सूचना ग्रामीणों को दी गई. आनन-फानन में सभी को सदर अस्पताल लाया गया. वहीं, गुस्साए ग्रामीणों ने मनकौल गांव के पास चांदी जाने वाली मुख्य सड़क को जाम कर दिया।

बेगूसराय में 14 छात्राएं बेहोश: वहीं, बेगूसराय में भी भीषण गर्मी के कारण सरकारी स्कूल में एक के बाद 14 स्कूली छात्रा बेहोश हो गई. इस घटना के बाद से स्कूल परिसर में अफरा तफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई. सभी बच्चों को तुरंत स्थानीय पीएससी में भर्ती कराया गया है. वहीं, स्कूल के प्रधानाचार्य ने सरकार के फैसले के खिलाफ नाराजगी जताई है।

Sumit ZaaDav

Hi, myself Sumit ZaaDav from vob. I love updating Web news, creating news reels and video. I have four years experience of digital media.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected!

हमें विज्ञापन दिखाने की आज्ञा दें।