क्या है 12 जून 2024 का पंचांग, जानें शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहु काल का समय

BhaktiHoroscope

पंचांग में आने वाले त्यौहारों, व्रतों, और अन्य धार्मिक कार्यक्रमों की सूची होती है. इससे हमें इन दिनों का पूर्वानुमान लगाने और उचित तैयारी करने में मदद मिलती है.

आज का पंचांग – 12 जून 2024 बुधवार ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष षष्ठी तिथि है. हिन्दू पंचांग के अनुसार आज मघा नक्षत्र है. मघा नक्षत्र का अर्थ है “बलवान” या “महान”. यह नक्षत्र सिंह राशि में स्थित है और इसके स्वामी केतु ग्रह हैं. मघा नक्षत्र के देवता पितृ हैं. मघा नक्षत्र में जन्मे कुछ प्रसिद्ध लोगों की बात करें तो लता मंगेशकर, अमिताभ बच्चन, सचिन तेंदुलकर, नरेंद्र मोदी, इंदिरा गांधी भी इसी नक्षत्र में पैदा हुए हैं. पंचांग से हमें तिथि, वार, नक्षत्र, योग, करण और ग्रहों की स्थिति का ज्ञान प्राप्त होता है. यह जानकारी धार्मिक कार्यों, शुभ मुहूर्तों का निर्धारण, और दैनिक जीवन में महत्वपूर्ण निर्णय लेने में सहायक होती है. हिंदू पंचांग दैनिक जीवन में अनेक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. पंचांग में मौसम और ऋतुओं का भी उल्लेख होता है. यह जानकारी किसानों के लिए बहुत उपयोगी होती है क्योंकि वे इसके आधार पर अपनी फसलों की बुवाई और सिंचाई का काम करते हैं.

आज का पंचांग

तिथि- षष्ठी – 19:18:45 तक

नक्षत्र- मघा – 26:12:36 तक

करण- कौलव – 06:20:02 तक, तैतिल – 19:18:45 तक

पक्ष- शुक्ल

योग- हर्शण – 17:14:33 तक

वार- बुधवार

सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएं

सूर्योदय- 05:22:36

सूर्यास्त- 19:19:29

चन्द्र राशि- सिंह

चन्द्रोदय- 10:37:00

चन्द्रास्त- 23:57:59

ऋतु- ग्रीष्म

हिन्दू मास एवं वर्ष

शक सम्वत- 1946   क्रोधी

विक्रम सम्वत- 2081

काली सम्वत- 5125

प्रविष्टे / गत्ते- 30

मास पूर्णिमांत- ज्येष्ठ

मास अमांत- ज्येष्ठ

दिन काल- 13:56:52

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)

दुष्टमुहूर्त- 11:53:09 से 12:48:57 तक

कुलिक- 11:53:09 से 12:48:57 तक

कंटक- 17:27:54 से 18:23:42 तक

राहु काल- 12:21:03 से 14:05:40 तक

कालवेला / अर्द्धयाम- 06:18:24 से 07:14:12 तक

यमघण्ट- 08:09:59 से 09:05:47 तक

यमगण्ड- 07:07:13 से 08:51:50 तक

गुलिक काल- 10:36:26 से 12:21:03 तक

शुभ समय (शुभ मुहूर्त)

अभिजीत कोई नहीं

दिशा शूल

दिशा शूल- उत्तर

पंचांग का उपयोग शुभ मुहूर्त निर्धारण, ग्रह शांति के उपाय, वास्तु विद्या, और अन्य धार्मिक कार्यों में भी किया जाता है. हिंदू पंचांग न केवल धार्मिक कार्यों के लिए बल्कि दैनिक जीवन में भी बहुत उपयोगी है. यह हमें समय और ग्रहों की स्थिति का ज्ञान देकर हमारे जीवन को व्यवस्थित और सुखमय बनाने में मदद करता  है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Adblock Detected!

हमें विज्ञापन दिखाने की आज्ञा दें।