मुकेश सहनी की ‘वीआईपी’ मीटिंग, गंगा की लहरों के बीच क्रूज पर बनाई जीत की रणनीति

BiharPatnaPolitics
Google news

गंगा की लहरों पर तैरता क्रूज और क्रूज पर जीत की रणनीतियों को लेकर मंथन. भागलपुर में विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी ने कुछ इसी खास अंदाज में अपनी पार्टी के पदाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में वीआईपी के बिहार के सभी जिलों के अध्यक्ष और कमेटी के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया।

‘मेरा कर्म और धर्म है मछली मारना-बेचना’: इस मौके पर वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी ने पार्टी के पदाधिकारियों और जिलाध्यक्षों को अभी से ही विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाने का आह्वान किया. बैठक के दौरान मुकेश सहनी ने अपने सामने टेबल पर दो कतला मछलियों को भी रखा था. सहनी ने कहा कि “मेरे साथ मछली देख कर कई लोग परेशान हो जाते हैं लेकिन मेरा कर्म और धर्म मछली बेचना, मछली मारना और मछली खाना है. मैं मछुआरा का बेटा हूं.”

‘निषाद आरक्षण की लड़ाई जारी रहेगी’: बैठक को संबोधित करते हुए मुकेश सहनी ने कहा कि “लोकसभा चुनाव में भले ही हम एक भी सीट नहीं जीत पाए लेकिन वीआईपी के साथ-साथ महागठबंधन का भी वोट शेयर बढ़ा है, जो विधानसभा चुनाव के लिए अच्छा संकेत है. निषाद आरक्षण की लड़ाई जारी है और जब तक बिहार, झारखंड और यूपी में निषादों को आरक्षण नहीं मिल जाता ये लड़ाई जारी रहेगी”

लोकसभा चुनाव में नहीं मिली जीतः बता दें कि हाल ही संपन्न हुए लोकसभा चुनाव के दौरान विकासशील इंसान पार्टी ( वीआईपी) ने महागठबंधन के बैनर तले तीन लोकसभा सीटों- झंझारपुर, गोपालगंज और पूर्वी चंपारण से चुनाव लड़ा था, लेकिन पार्टी को किसी भी सीट पर सफलता नहीं मिली थी।

तेजस्वी के साथ जमकर किया था प्रचारः लोकसभा चुनाव के दौरान आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और मुकेश सहनी की जोड़ी महागठबंधन के स्टार प्रचारक के रूप में उभरी थी. तेजस्वी और मुकेश सहनी ने मिलकर लोकसभा चुनाव के दौरान ढाई सौ से ज्यादा चुनावी सभाओं को संबोधित किया था. उस दौरान तेजस्वी और मुकेश सहनी के मछली खानेवाले वीडियो को लेकर जमकर सियासी बवाल मचा था।

Sumit ZaaDav

Hi, myself Sumit ZaaDav from vob. I love updating Web news, creating news reels and video. I have four years experience of digital media.

Adblock Detected!

हमें विज्ञापन दिखाने की आज्ञा दें।