खट्टर अपने राज्य में हिंसा रोकने में नाकाम, लोगों का ध्यान भटकाने के लिए दे रहे बयान: CM अशोक गहलोत

NationalPoliticsTOP NEWS
Google news

नूंह हिंसा पर अब राजनीति तेज हो गई है। इस पूरे प्रकरण के दौरान मोनू मानेसर का नाम खूब चर्चा में आ रहा है। यह वही मोनू मानेसर है जो लोगों की हत्या में आरोपी है। मोनू को लेकर पिछले दिनों हरियाणा और राजस्थान पुलिस में जमकर रार ठनी थी। हालांकि वह अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। नूंह में हुई हिंसा में नाम आने के बाद मोनू मानेसर पर हरियाणा के सीएम मनोहरलाल खट्टर ने कहा था कि राजस्थान की पुलिस कार्रवाई करे, उनकी पुलिस सहयोग करेगी।

अशोक गहलोत ने ट्वीट कर बोला हरियाणा के सीएम पर हमला 

अब इस बयान के बाद राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने भी पलटवार किया है। गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा, “हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मीडिया में बयान देते हैं कि राजस्थान पुलिस की हरसंभव मदद करेंगे परन्तु जब हमारी पुलिस नासिर-जुनैद हत्याकांड के आरोपियों को गिरफ्तार करने गई तो हरियाणा पुलिस ने कोई सहयोग नहीं किया बल्कि राजस्थान पुलिस पर FIR तक दर्ज कर ली।” अशोक गहलोत ने कहा कि जो आरोपी फरार हैं उन्हें तलाशने में हरियाणा पुलिस राजस्थान पुलिस का सहयोग नहीं कर रही। मनोहरलाल खट्टर हरियाणा में हो रही हिंसा को रोकने में नाकाम रहे और अब सिर्फ लोगों को ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के बयान दे रहे हैं जोकि उचित नहीं है।

राजस्थान पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र- खट्टर 

इससे पहले मोनू मानेसर के बारे में पूछे जाने पर खट्टर ने कहा था कि उस पर राजस्थान पुलिस ने मामला दर्ज किया है। खट्टर ने कहा कि हरियाणा सरकार मोनू मानेसर को पकड़ने के लिए हरसंभव सहायता प्रदान करेगी। गोरक्षक मोनू मानेसर के खिलाफ राजस्थान पुलिस ने दो मुस्लिम युवकों की हत्या के सिलसिले में मामला दर्ज किया था, जिनके झुलसे हुए शव फरवरी में हरियाणा के भिवानी जिले में पाए गए थे। खट्टर ने कहा, ‘‘राजस्थान पुलिस मोनू मानेसर की तलाश कर रही है। हमारे पास कोई जानकारी नहीं है कि वह अब कहां है। राजस्थान पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है।’’

Kumar Aditya

Anything which intefares with my social life is no. More than ten years experience in web news blogging.

Adblock Detected!

हमें विज्ञापन दिखाने की आज्ञा दें।