NIA की बड़ी कार्रवाई, विस्फोटक बरामद मामले में मुख्य साजिशकर्ता गिरफ्तार, आपत्तिजनक दस्तावेज भी किए गए जब्त

NationalTOP NEWS
Google news

राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में इलेक्ट्रिक डेटोनेटर और विस्फोटक बरामदगी मामले में एक मुख्य साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर लिया। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। इसके साथ ही पिछले साल जून में दर्ज मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या 8 हो गई है। संघीय आतंकवाद रोधी एजेंसी ने कहा कि पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के निवासी इस्लाम चौधरी को उसके घर से पकड़ा गया, जहां एनआईए ने 1.50 लाख रुपये नकद, बैंक लेन-देन के दस्तावेज, मोबाइल नंबरों के साथ पर्चियां, सिम कार्ड, तीन मोबाइल फोन और आपत्तिजनक दस्तावेज भी जब्त किए।

आरोपियों से पूछताछ के बाद गिरफ्तारी 

अधिकारी ने कहा कि मामले में दो अन्य आरोपियों-मेराजुद्दीन अली खान और मीर मोहम्मद नुरुज्जमां से पूछताछ के बाद एनआईए ने चौधरी की गिरफ्तारी की। खान और नुरुज्जमां को एनआईए ने 28 जून को गिरफ्तार किया था। प्रवक्ता ने कहा, “जांच से पता चला है कि चौधरी मामले में विस्फोटकों की आपूर्ति में एक प्रमुख साजिशकर्ता और सूत्रधार था और पिछले साल सितंबर में भारी मात्रा में इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, ‘नॉनल्स’ (गैर-इलेक्ट्रिक डेटोनेटर) और विस्फोटकों की बरामदगी के बाद मामला दर्ज किया गया था।”

81,000 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर किए गए थे जब्त 

शुरू में पश्चिम बंगाल विशेष कार्य बल (STF) की एक टीम ने बीरभूम जिले के एमडी बाजार थाना अंतर्गत क्षेत्र में एक वाहन से करीब 81,000 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर जब्त किए गए थे और वाहन चालक आशीष केवरा को गिरफ्तार कर लिया गया था। प्रवक्ता ने कहा कि इसके बाद की तलाशी में 2,525 इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 27,000 किलोग्राम से अधिक अमोनियम नाइट्रेट, 1,625 किलोग्राम से अधिक जिलेटिन छड़ें, मैगजीन के साथ एक पिस्तौल आदि चीजें बरामद की गई थीं। अधिकारी ने कहा कि तलाशी के दौरान अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया और एनआईए अपनी जांच जारी रखे हुए है।

Kumar Aditya

Anything which intefares with my social life is no. More than ten years experience in web news blogging.

Adblock Detected!

हमें विज्ञापन दिखाने की आज्ञा दें।