• Sat. Jun 25th, 2022

ये हौसलों की उड़ान है, दोनों पैर नहीं लेकिन इंटर में पढ़ने वाली सहरसा की रजनी बनना चाहती है गायिका, मदद को बढ़े हाथ

BySumit Kumar

Jun 23, 2022

घुटने के सहारे चलकर पढ़ने जा रही एक लड़की का वीडियो पिछले दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था. लोगों ने भी उनके हौसले को सलाम करते थक नहीं रहे थे. ऐसा ही एक और मामला सामने आया है. सहरसा जिला के सौरबाजार प्रखंड स्थित बैजनाथपुर वार्ड नंबर 2 निवासी साधु दास की 16 वर्षीय पुत्री रजनी दोनो पैरों से दिव्यांग है. वह मनोहर उच्च विद्यालय बैजनाथपुर में 11वीं की छात्रा है जो 2023 में इंटर की परीक्षा की तैयारी में जुटी है।

दौनों पैरों के कटे रहने के वावजूद भी वह घुटने के सहारे चलकर स्कूल और कोचिंग पढ़ने जाती है. पिता साधु दास साईकिल पर सोन पापड़ी बेचकर सभी बच्चों की पढ़ाई और परिवार का भरन-पोषण करते है. निम्नवर्गीय परिवार में पल रही रजनी गायिका बनना चाहती है, जो उसके परिजनों के लिए चुनौती है. पैर नहीं रहने के कारण रजनी के लिए संगीत प्रशिक्षण या रियाज के लिए कहीं दूर जाना भी किसी चुनौती से कम नहीं है. वहीं रजनी में संगीत के क्षेत्र में कुछ करने का जुनून होने के कारण प्रांगण जन-कल्याण फाउंडेशन, मधेपुरा के संस्थापक सुनीत साना के नेतृत्व में पिछले दिनों उसके आवास पर पहुंचकर उनसे एक शिष्टमडल ने मुलाकात करते हुए निःशुल्क संगीत की शिक्षा एवं हारमोनियम देने की घोषणा की थी।

जिसके बाद डॉ भूपेन्द्र नारायण यादव मधेपुरी के नेतृत्व में विश्व संगीत दिवस के अवसर पर डॉ. अरुण कुमार, संस्थापक सुनीत साना, सदस्य संतोष राजा सहित अन्य लोग उनके आवास पर पहुंचकर उन्हें हारमोनियम भेंट की. संगीत की शिक्षा प्रांगण जन-कल्याण फाउंडेशन के सदस्य व गायक संतोष राजा के द्वारा दी जाएंगी. बता दें कि हारमोनियम खरीदने के लिए डॉ. भूपेंद्र नारायण यादव मधेपुरी, डॉ अरुण कुमार (HOD) जूलॉजी विभाग, डॉ. जवाहर पासवान प्राचार्य केपी कॉलेज मुरलीगंज, डॉ. केपी यादव प्राचार्य टीपी कॉलेज मधेपुरा, डॉ. नरेश कुमार सीनेटर, सुनील कुमार प्राचार्य बाबा सिंहेश्वर कॉलेज सिंहेश्वर, डॉ अशोक कुमार प्राचार्य मधेपुरा कॉलेज मधेपुरा, वृंदावन हॉस्पिटल के डॉक्टर वरुण कुमार, रश्मि भारती, वीणा देवी मिठाई एवं महेश मंडल पथ निर्माण विभाग सचिवालय (ग्रुप डी) में पटना ने अपना आर्थिक सहयोग दिया है।

साथ ही मधेपुरा कॉलेज के प्राचार्य डॉ अशोक कुमार ने घोषणा की है कि दिव्यांग बच्ची रजनी को मधेपुरा कॉलेज में बीए तक की पढ़ाई निःशुल्क करवाएंगे. वहीं डॉ अरुण कुमार ने घोषणा की है कि बीएन मंडल विश्वविद्यालय के तहत किसी भी विषय से पीजी करने पर 40 से 50 पर्सेंट पढ़ाई का खर्च वहन करेंगे. उन्हेंने कहा कि अगर जंतु विभाग से पीजी करती है तो सारा खर्च मैं उठाऊंगा।