• Sun. Sep 26th, 2021

भागलपुर से चलने वाली ट्रेनों की बढ़ेगी रफ्तार,अब 110 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार में हवा से बात करेगी ट्रेनें

ByAditya

Jul 29, 2021

भागलपुर – साहिबगंज – किऊल सेक्शन पर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने की कवायद तेज कर दी गई है । अब इस खंड पर महत्वपूर्ण एक्सप्रेस , सुपरफास्ट और मेल ट्रेनें 100 की जगह 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी । लूप लाइन में भी 15 की ” जगह 30 किमी औसतन रफ्तार होगा । पूर्व रेलवे के प्रमुख मुख्य अभियंता ने इन रेल सेक्शनों पर ट्रेनों की रफ्तार 10 किमी प्रतिघंटे बढ़ाने की सहमति दे दी है । मालदा रेल मंडल ने स्पीड बढ़ाने के लिए फाइल को भी आगे भेज दिया है । जल्द ट्रेनों की स्पीड बढ़ेगी । ट्रेनों की रफ्तार बढ़ने से यात्रियों को सफर करने में समय की बचत होगी । साथ ही ट्रेनें भी नहीं फंसेगी ।

दरअसल , साहिबगंज से किऊल के बीच रेलवे ट्रैक को दो वर्ष पहले ही बदल दिया गया है । लेकिन , ट्रेनों की रफ्तार नहीं बढ़ सकी थी । इसखंड पर एक्सप्रेस सुपरफास्ट और मेल ट्रेनें औसतन 100 किमी रफ्तार से चल रही है , जबकि इंटरसिटी ट्रेनें अधिकतम 90 की रफ्तार से चलती है । साहिबगंज से किऊल तक 172 किमी तक रेलवे पटरी 52 और 60 किलोग्राम भार के बिछी हुई है । मालदा के रेल मंडल प्रबंधक यतेंद्र कुमार ने बताया कि मालदा रेल मंडल पूरी तरह विद्युतीकृत हो गया है ।

लंबी दूरी के लिए 22 जोड़ी चलती हैं ट्रेनें : मालदा रेल मंडल के साहिबगंज से किऊल के बीच 20 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन अप डाउन में होता है । इसमें कई ट्रेनें साप्ताहिक , द्वि – साप्ताहिक और रोजाना शामिल है । भागलपुर से जमालपुर के रास्ते दिल्ली के लिए हमसफर एक्सप्रेस मिलाकर कुल सात ट्रेनें हैं । इसमें से सबसे ज्यादा पसंदीदा ट्रेन विक्रमशिला है ।

स्पीड बढ़ाने के बाद समय में भी बदलाव

जब ट्रेनों की रफ्तार बढ़ेगी तो कुछ गाड़ियों के समय में भी आशिंक बदलाव होने की उम्मीद है । किऊल से भागलपुर की 98 किमी की दूरी तय करने में ढाई से पौने तीन घंटे लगते हैं । रेलवे अब स्पीड बढ़ाकर इन ट्रेनों का समय कम करने की तैयारी में है । रेलवे भागलपुर से किऊल तक की दूरी तय 2.15 घंटे में पूरा करने की सोच रहा है । ऐसा होता है तो यात्रियों को काफी सहूलियत होगी ।