• Sat. May 21st, 2022

बक्सर में बर्निंग ट्रेन बनने से बची पटना-कोटा एक्सप्रेस: दो फायर बाक्स के सहारे रेल कर्मियों ने पाई आग पर काबू

ByShivam Choudhary

Dec 22, 2021

मंगलवार को दोपहर स्थानीय रेलवे स्टेशन पर एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। गेटमैन रंजीत कुमार की सूझबूझ और तत्परता से पटना कोटा एक्सप्रेस बर्निग ट्रेन होने से बाल-बाल बच गई। गेटमैन की सूचना पर रेल कर्मियों ने दो फायर बाक्स के सहारे ब्रेक वाइंडिंग से लगे आग पर काबू पा खतरा को टाल दिया। घटना मंगलवार दोपहर 1:30 बजे की है।

13237 अप पटना-कोटा एक्सप्रेस डुमरांव स्टेशन पर आकर रुकी तो उसके एक बोगी से धुआं निकल रहा था। हालांकि, स्टेशन पर आने से पहले पूर्वी गेट संख्या 66 बी के गेटमैन रंजीत कुमार ने ट्रेन के स्लीपर बोगी के चक्कों में धुंआ तथा आग की लपटों को देख लिया था। इसकी सूचना ड्यूटी में तैनात स्टेशन मास्टर धर्मवीर सिंह को दे दी। सूचना मिलते हैं प्रबंधन में अफरा-तफरी मच गई। इसके बाद स्टेशन मास्टर ने तुरंत ट्रेन खड़ा होते ही पोर्टर संजय कुमार तथा ऑफ ड्यूटी के बाद स्टेशन में मौजूद स्टेशन मास्टर अविनाश कुमार सहित अन्य रेल कर्मियों की सहायता से पैनल में मौजूद फायर बॉक्स से ट्रेन के स्लीपर क्लास के एस – 3 बोगी के व्हील में लगी आग पर काबू पाने की मैराथन कोशिश शुरू कर दी।

ट्रेन के व्हील में लगी आग

जानकारी मिलते ही गार्ड एस रजक भी ट्रेन में मौजूद फायर बॉक्स को लेकर सहयोग के लिए पहुंच गए। काफी प्रयास के बाद आग पर काबू पाया गया। इस दौरान कुल 3 फायर बॉक्स का प्रयोग किया गया। घटना की सूचना मिलते ही RPF हवलदार वी के राय, सिपाही SK गुप्ता, GRP के चन्द्रमन कुमार घटनास्थल पर पहुंच आग बुझाने में सहयोग किए। रेल पुलिस ने यात्रियों को समझाया-बुझाया। करीब 22 मिनट के मशक्कत के बाद पूरी तरह से आग पर काबू पाया गया। इसके बाद 1:52 में पटना-कोटा एक्सप्रेस अपने गंतव्य के लिए रवाना हो गई। स्टेशन मास्टर धर्मवीर सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि ब्रेक बैंडिंग के चलते घर्षण के कारण ट्रेन के व्हील में आग लग गई थी ।

ब्रेक ऑयल की वजह से लगी आग

ब्रेक बाइंडिंग की शिकार पटना कोटा एक्सप्रेस ट्रेन के यात्रियों ने बताया कि ट्रेन के आरा से खुलने के बाद ही यह समस्या शुरू हो गई थी । जो पहले ब्रेक ऑयल के जलने के महक से शुरू होकर बाद में धुआं के गुब्बारों तथा आग की लपटों में तब्दील हो गई । संयोग अच्छा था कि आग की लपटों को देखते ही गेटमैन ने आग लगने की सूचना स्टेशन मास्टर को दी । जिसके बाद स्टेशन मास्टर सहित अन्य रेल कर्मियों की तत्परता से एक बड़ी घटना होने से बच गई ।

इस दौरान पटना-कोटा एक्सप्रेस डुमरांव स्टेशन पर 22 मिनट तक खड़ी रही । इस घटना के कारण पटना-कोटा के पीछे चल रही 12792 अप दानापुर-सिकंदराबाद एक्सप्रेस कुछ समय के लिए प्रभावित रही तथा कुछ देर डुमरांव स्टेशन पर भी खड़ी रही ।