लखनऊ, वाराणसी और कानपुर में नाइट कर्फ्यू, रात नौ बजे के बाद लागू हो जाएंगी पाबंदियां

यूपी में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी लखनऊ, वाराणसी और कानपुर में गुरुवार रात से नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी गई है। इस दौरान केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही छूट होगी। लखनऊ में फिलहाल केवल नगर निगम क्षेत्र में इसे लागू किया गया है। ग्रामीण इलाकों में नाइट कर्फ्यू लागू नहीं होगा। माना जा रहा है कि जल्द ही कुछ और शहरों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान हो सकता है। सीएम योगी ने 500 से ज्यादा एक्टिव केस वाले जिलों के डीएम को नाइट कर्फ्यू पर फैसला लेने के लिए अधिकृत कर दिया है। फिलहाल वाराणसी और लखनऊ के बाद प्रयागराज में 500 से ज्यादा एक्टिव केस हैं।

लखनऊ के जिलाधिकारी के अनुसार 8 अप्रैल से रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा। फिलहाल 16 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक के लिए इसे लागू किया जा रहा है। दिन में सुबह 6 बजे से शाम 9 बजे तक कोविड प्रोटोकाल के साथ काम चलता रहेगा। कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तु को लाने ले जाने की छूट होगी। फल,सब्जी, दूध, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल और दवा की सप्लाई जारी रहेगी। रात्रि कालीन शिफ्ट के सरकारी/अर्ध सरकारी कार्मिक एवम् आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को छूट होगी। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट पर आने जाने वाले लोग अपना टिकट दिखा कर आ जा सकेंगे। हर प्रकार की मालवाहक गाड़ियों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।

वाराणसी में स्कूल कालेज भी बंद होंगे

इसी तरह वाराणसी में 8 अप्रैल से एक सप्ताह के लिए नाइट कर्फ्यू लगाजा गया है। रात 9 बजे से यह सुबह तक यह लागू होगा। सुबह कितने बजे कर्फ्यू खत्म होगा इसका फैसला गुरुवार को किया जाएगा। डीएम के अनुसार चिकित्सा, नर्सिंग एवम् पैरा मेडिकल संस्थानों को छोड़ कर समस्त सरकारी, गैर सरकारी अथवा निजी विद्यालय, महाविद्यालय, शैक्षणिक संस्थान एवम् कोचिंग संस्थान बंद किए जाएंगे। केवल परीक्षा और प्रैक्टिकल परीक्षा के समय में विद्यालय या महाविद्यालय खोलने की छूट होगी। पारिवारिक सामाजिक आयोजनों और पारंपरिक धार्मिक आयोजनों को छोड़ कर 5 व्यक्तियों से अधिक लोगो के राजनैतिक, सामाजिक और अन्य सभी कार्यक्रमों की अनुमति नहीं दी जाएगी। सभी पार्क, स्टेडियम आदि सुबह और शाम कुछ घंटे ही खुलेंगे। घाटों पर आरतियां सुक्ष्म रूप से की जाएंगी और इनमें जन सामान्य प्रतिभाग नहीं करेंगे। दूध, सब्जी मंडी, दवा की दुकानों हेतु रियायत रहेगी। यात्रियों का रात्रि शिफ्ट के कर्मचारियों और मालवाहक गाड़ियों के आवागमन हेतु भी रियायत रहेगी।

कानपुर में 12वीं तक के स्कूल बंद

कानपुर में लगातार दो दिनों से 300 से ज्यादा कोरोना संक्रमितों के मिलने के बाद गुरुवार से नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय किया गया है। इसके साथ ही 12वीं तक के स्कूलों को 30 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया गया है। मुख्यमंत्री के साथ बैठक के बाद जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने कर्फ्यू लगाने की जानकारी दी।

100 से अधिक केस वालों जिलों में सख्ती के निर्देश

यूपी में बढ़ते कोरोना संक्रमण से चिंतित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ज्यादा केस वाले जिलों में सख्ती करने को कहा है। उन्होंने कहा कि रोजाना 100 से अधिक कोरोना केस या कुल एक्टिव केस की संख्या 500 से अधिक वाले जिलों में रात्रि में आवागमन नियंत्रित रखने के संबंध में भी समुचित फैसला किया जाए लेकिन किसी भी परिस्थिति में आवश्यक सामग्री जैसे दवा, खाद्यान्न आदि के आवागमन को बाधित न किया जाए। साथ ही ऐसे जिलों में माध्यमिक विद्यालयों में अवकाश के संबंध में भी डीएम स्थानीय स्थिति के अनुरूप फैसला करें। सीएम ने कहा कि वह खुद हालात का जायजा लेते हुए प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर जिलों का औचक निरीक्षण करेंगे। लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी में 500 से अधिक केस हैं। कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्ध नगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर और मुरादाबाद में 100 से अधिक केस हैं।

Leave a Reply