• Sat. May 21st, 2022

बक्सर में 12 साल पहले मां कर चुकी है अंतिम संस्कार, चिट्ठी से पता चला बेटा पाकिस्तान में है

ByRajkumar Raju

Dec 16, 2021

बिहार के बक्सर में 12 साल पहले जिस लापता बेटे को मरा समझकर मां ने अंतिम संस्कार कर दिया था। उसके पाकिस्तान की जेल में होने की जानकारी सामने आई है। विदेश मंत्रालय से जब ये चिट्‌ठी उसके घर पहुंची तो मां के जहन में अपने बेटे छवि की ‘छवि’ उतर आई। वो खुशी के मारे रो पड़ी। मां को अब अपने बेटे के घर लौटने का इंतजार है। 12 साल पहले जब वो घर से लापता हुआ था तो उसकी दिमागी स्थिति ठीक नहीं थी। परिवार ने उसकी काफी तलाश की लेकिन जब उसकी कोई सूचना नहीं मिली तो उसे मरा हुआ समझ लिया। मामला बक्सर जिले के खिलाफतपुर का है। युवक का नाम छवि मुशहर है।

विदेश मंत्रालय से मुफस्सिल थाने में उसकी पहचान के लिए कुछ पेपर आए थे। छवि ने पाकिस्तान के प्रशासन को अपना, अपने माता-पिता-गांव और पड़ोसियों का नाम सही-सही बताया है। वह कैसे पाकिस्तान पहुंच गया इसको लेकर लोग कई तरह की चर्चा कर रहे हैं। पुलिस को बुलाने पर थाने पहुंचे परिजनों ने युवक की तुरंत पहचान कर ली। परिजन अचंभित भी हैं कि जिस शख्स की मिलने की आस छोड़ अंतिम संस्कार कर दिया था। वह अब भी जिंदा है लेकिन अफसोस कि वह पाकिस्तान में है।

12 साल पहले अचानक लापता हो गया था
मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चौसा नगर पंचायत स्थित खिलाफतपुर की दलित बस्ती में सैकड़ों परिवार मेहनत मजदूरी करते हैं। छवि इन्हीं के बीच पला बढ़ा। उसकी शादी हुई एक बच्चा भी है। लेकिन, एक दिन दलित बस्ती से वो अचानक लापता हो गया। बड़े भाई पिता और आसपास के लोगों ने काफी खोजबीन की। लेकिन, काफी दिन बीत जाने के बाद भी छवि का कोई अता-पता नहीं चला।

भाई बोले- देखते ही पहचान गए थे
छवि कुमार के बड़े भाई रवि कुमार ने कहा कि- “छवि जब लापता हुआ था तब उसकी उम्र 20 साल के आसपास थी। हालांकि, इसकी सूचना थाने में नहीं दी गई थी। क्योंकि इसके पहले भी घर से गायब होता था तब वह कुछ दिनों के बाद घर लौट जाता था। लेकिन, इस बार लंबे दिनों के बाद भी जब घर वापस नहीं आया तो उसको मृत मान अंतिम संस्कार कर दिया गया। लेकिन, थाने से जानकारी मिली है कि वह पाकिस्तान के जेल में बंद है। हम लोग उसकी तस्वीर देखते ही उसको पहचान गए।”

मां की इच्छा है कि बेटा घर वापस आए
मां वृति देवी ने अपनी भाषा में बताया कि- “मैंने बेटे की जिंदा रहने की आस ही छोड़ दी थीं। लेकिन, बेटा पाकिस्तान में बताया गया है। कब आएगा ये नहीं बताया।” सारी बातें कहते हुए मां की ममता छलक उठी और वह फफक कर रोने लगीं। उनकी इच्छा फिर से जाग उठी है कि मरने से पहले बेटे को अपने पास देखें। विदेश मंत्रालय की कागज पर बेटे का फोटो देख मां रोती और निहारती रही।

पत्नी ने लापता होने के दो साल बाद कर ली थी शादी
छवि मुशहर की शादी 14 साल पहले अनिता कुमारी से हुई थी। लापता होने के बाद पत्नी ने इसके बच्चे को भी जन्म दिया था। लेकिन, दो साल इंतजार के बाद वह दूसरी शादी कर ली और अपने बच्चे को लेकर वहां से चली गई।

वहीं, मुफस्सिल थानाध्यक्ष अमित कुमार ने बताया कि शिनाख्त के लिए कल संबंधित विभाग से कागजात आए थे। उसकी पहचान हो गई है। रिपोर्ट तैयार कर भेज दी गई है। पाकिस्तान में कहां और कब से है इसकी जानकारी नहीं है। बाकी जानकारी इससे संबंधित विभाग ही दे सकता है।