• Sat. May 21st, 2022

ललन सिंह ने संगठन में किया बड़ा बदलाव, लोकसभा विधानसभा प्रभारी का पद किया खत्म

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के नेतृत्व में पार्टी के सभी प्रकोष्ठ के अध्यक्षों की बैठक का आयोजन किया गया। गुरूवार को आयोजित इस बैठक की समाप्ति के पश्चात जदयू अध्यक्ष ललन सिंह मीडिया से मुखातिब हुए और बैठक संबंधी महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होनें कहा कि पार्टी के सभी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष ने बेहतक तरीके से काम किया है। आगे सभी प्रकोष्ठ मुख्य कमेटी के साथ मिलकर काम करेंगे, जिससे पार्टी में एकजुटता बनी रहेगी।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने इस बैठक में बड़ा फैसला लेते हुए लोकसभा और विधानसभा के प्रभारियों का पद खत्म कर दिया। साथ ही दो मुख्यालय प्रभारियों को हटाने का निर्णय लिया गया है। अनिल कुमार और चंदन सिंह को प्रदेश मुख्यालय प्रभारी पद से छुट्टी कर दी गई है। बताया जाता है कि दोनों केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के करीबी हैं। ललन सिंह ने कहा, पार्टी में अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अभी जो लोकसभा और विधानसभा प्रभारी हैं, उनको संगठन में समायोजित किया जाएगा।

लोकसभा और विधानसभा के प्रभारियों का पद खत्म करने की वजह समझाते हुए उन्होनें कहा कि, प्रकोष्ठों की वजह से समानांतर संगठन बनता जा रहा था। अब जिला अध्यक्ष के साथ मिलकर काम करना होगा। पार्टी के जिलाध्यक्ष भी प्रकोष्ठ के सदस्यों और पदाधिकारियों के साथ मिलकर काम करेंगे। जिला प्रदेश और प्रखंड की यूनिट ही अब काम करेगी। वहीं अब हर जिले में दो- दो प्रभारियों की नियुक्ति की जाएगी। पार्टी के पदाधिकारियों की राय के आधार पर यह सभी फैसले लिए गए हैं।

जदयू प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा की ओर से जिला प्रभारियों की नियुक्ति की गयी है। इसके अनुसार, प्रदेश स्तर के प्रभारियों को जिले का प्रभार दिया गया है। जदयू प्रदेश मुख्यालय का जिम्मा उपाध्यक्ष नवीन कुमार आर्य, महासचिव मृत्युजंय कुमार, वासुदेव कुशवाहा और मनीष कुमार को सौंपा गया है।