• Sat. May 21st, 2022

जदयू की नवमनोनीत प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक , मीटिंग में नीतीश देंगे बड़ा होम वर्क

ByRajkumar Raju

Jul 18, 2021

जनता दल यूनाईटेड की नई प्रदेश कमेटी की गठन के बाद नवमनोनीत प्रदेश पदाधिकारियों की पहली बैठक हो रही है. इस अहम बैठक में बिहार के मुख्यमंत्री मंत्री, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह भी हिस्सा ले रहे हैं. दोनों नेता जूम ऐप के जरिए प्रदेश पदाधिकारियों को संबोधित करेंगे. बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी और जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा समेत तमाम बड़े नेता प्रदेश कार्यालय पहुंच चुके हैं.

जेडीयू की नई टीम को लेकर यह बैठक काफी अहम माना जा रहा है. बताया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में ख़राब प्रदर्शन के बाद पार्टी आलाकमान नई टीम के साथ इस बात पर भी मंथन करेंगे कि आखिरकार कैसे जेडीयू अपनी पुरानी जमीन को हासिल करे. आखिरकार किस तरह से एक बार फिर से जनाधार को मजबूत किया जाये कि बिहार में जेडीयू एक बड़ी पार्टी बने. इस बैठक में पूरे तरीके से भविष्य की रणनीति पर चर्चा की जाएगी.

राजधानी पटना के वीरचंद पटेल स्थित जेडीयू के प्रदेश कार्यालय में ये महत्वपूर्ण बैठक शुरू हो गई है. इस बैठक में जेडीयू के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी के सीनियर लीडर वशिष्ठ नारायण सिंह, बिहार सरकार के मंत्री विजय कुमार चौधरी, अशोक चौधरी और विजेंद्र यादव भी मौजूद हैं. जानकारी मिली है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी और बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा भी वर्चुअल माध्यम से इस बैठक में शामिल होंगे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह वर्चुअल माध्यम से पार्टी के सभी प्रदेश उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव, कोषाध्यक्ष, प्रवक्ता, तमाम प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारियों को टिप्स देंगे और नेताओं को बताएँगे कि जेडीयू को पुराने फॉर्म में कैसे वापस लाना है. गौरतलब हो कि सीएम नीतीश ने काफी लंबे समय के बाद एक बार फिर से जनता दरबार की शुरुआत कर दी है. लिहाजा ये भी माना जा रहा है कि सीएम नीतीश अब धीरे-धीरे उसी दौर में लौट रहे हैं.

नई प्रदेश कमेटी की बैठक में बिहार सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में भी नेताओं को जानकारी दी जाएगी कि आखिरकार किस तरह पार्टी के लीडर आम जनता के बीच सरकार और सीएम नीतीश की छवि को बेहतर बता सकते हैं. इस बैठक में सीएम नीतीश पार्टी नेताओं को बड़ा होमवर्क दे सकते हैं.