• Mon. Jan 24th, 2022

बाढ़ से त्रस्त लोगों के लिए मसीहा बना गोथल्स पब्लिक स्कूल पीरपैंती

ByShivam Choudhary

Aug 24, 2021

बाढ़ से त्रस्त लोगों के लिए मसीहा बना गोथल्स पब्लिक स्कूल पीरपैंती

एक तरफ जहां वैश्विक महामारी कोरोना पीछा नहीं छोड़ रहा वहीं गंगा के जलस्तर बढ़ जाने के कारण लगभग 150 गांवों में बाढ़ का प्रकोप है जिससे लोग त्राहिमाम है, वही एक विद्यालय अपने अनुशासन का परिचय देते हुए उनके सहयोग के लिए आगे बढ़ते दिख रही है, जी हां मैं बात कर रहा हूं गोथल्स पब्लिक स्कूल पीरपायती सेरमारी की !

गॉथल्स पब्लिक स्कूल पीरपेंती जो सीबीएसई से एफिलिएटिड विद्यालय है इस विद्यालय में पढ़ाई के साथ-साथ सभ्यता -संस्कृति, अनुशासन, खेलकूद ,सांस्कृतिक कार्यक्रम के अलावे आपदा में लोगों के लिए हर समय तत्पर रहती है यह विद्यालय! बताते चलें कि कोरोना के बाद बाढ़ की त्रासदी झेल रहा लोग बाट जोहे है कि कोई मदद मिले इसके लिए हर साल गौथल्स पब्लिक स्कूल बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में भ्रमण करती है और उनके ज़रूरत के सामानों को वह मुहैया कराती है।

बाढ़ राहत के अलावे हर साल यह विद्यालय जाड़े में कंबल का भी वितरण करती है और तो और अभी वैश्विक महामारी कोरोना में यही एकमात्र विद्यालय है जो 9 महीने का फि माफ कर दी ,
मीडिया से बात करते हुए गोथल्स पब्लिक स्कूल की प्राचार्य डॉ प्रतिभा सिंह ने कहा कि हमलोग अंदर गांव तक जाकर एसडीआरएफ की मदद से जितने भी बाढ़ से ग्रसित लोग हैं।

उन्हें जितना संभव हो सका उनकी मदद हमारे स्कूल की तरफ से की गई यह इसी साल नहीं हर साल की जाती है वहीं दूसरी ओर डॉ प्रतिभा सिंह ने यह भी कहा कि हमारे विद्यालय का रिजल्ट भी चाहे वह दसवीं का हो या 12वीं का ,यहां के बच्चे कभी फेल नहीं करते हैं क्योंकि हमारा विद्यालय सिर्फ पढ़ाई ही नहीं पढ़ाई के साथ-साथ सभ्यता संस्कृति, अनुशासन, खेलकूद एवं आपदा से लड़ने को तैयार रहने के लिए बच्चों को तैयार करती है।