Google भारत में करेगा 75 हजार करोड़ रुपये निवेश, भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था में आएगी तेजी

गूगल अगले 5 से 7 साल में भारत में 75,000 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रहा है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने सोमवार को इसकी घोषणा की। Google for India Digitisation Fund के रूप में यह निवेश भारत के डिजिटलीकरण के चार प्रमुख क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा। देश में आयोजित हो रहे छठे गूगल फॉर इंडिया इवेंट को संबोधित करते हुए पिचाई ने कहा कि यह नवीनतम कदम भारत के भविष्य और इसकी डिजिटल अर्थव्यवस्था में कंपनी के विश्वास का प्रतिबिंब है। पिचाई ने कहा कि आज मैं भारत के डिजिटलीकरण कोष  की घोषणा करने के लिए उत्साहित हूं। अगले 5-7 वर्षों में हम भारत में 75,000 करोड़ रुपये या 10 बिलियन अमरीकी डालर का निवेश करेंगे।

उन्होंने कहा कि हमारा निवेश भारत के डिजिटलीकरण के चार प्रमुख क्षेत्रों पर केन्द्रित होगा। इसमें हर भारतीय तक उसकी भाषा में सस्ती पहुंच और सूचनाओं को उपलब्ध कराना, भारत की जरूरत के मुताबिक नए उत्पाद और सेवाओं का निर्माण करना, कारोबारियों को डिजिटल बदलाव के लिए सशक्त करना और स्वास्थ्य, शिक्षा एवं कृषि जैसे क्षेत्रों में सामाजिक भलाई के लिए कृत्रिम मेधा और प्रौद्योगिकी लाभ पहुंचाना शामिल है।

मोदी, पिचाई के बीच चर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सुंदर पिचाई के साथ बातचीत की। इस दौरान प्रधानमंत्री ने भारत के किसानों और युवाओं के जीवन में बदलाव लाने में प्रौद्योगिकी की ताकत का लाभ उठाने और डेटा सुरक्षा के महत्व जैसे मुद्दों पर चर्चा की।  बातचीत के दौरान दोनों के बीच कोरोना वायरस महामारी के दौरान उभरती नई कार्य संस्कृति को लेकर भी चर्चा हुई।   प्रधानमंत्री ने एक के बाद एक कई ट्वीट जारी कर कहा, ”हमने वैश्विक महामारी के कारण खेलकूद जैसे क्षेत्र में आई चुनौती को लेकर चर्चा की। हमने डेटा सुरक्षा और साइबर सुरक्षा के महत्व को लेकर भी बातचीत की।

मोदी ने ऑनलाइन माध्यम के जरिये हुई इस बातचीत की तस्वीरें भी साझा की।  प्रधानमंत्री ने कहा, ”आज प्रात: सुंदर पिचाई के साथ बहुत ही फलदायी चर्चा हुई। हमने कई मुद्दों पर बातचीत की, इस दौरान खासतौर से भारत के किसानों, युवाओं और उद्यमियों के जीवन में बदलाव लाने में प्रौद्योगिकी की ताकत के इस्तेमाल को लेकर चर्चा हुई।

सुंदर पिचाई अल्फाबेट इंक और उसकी अनुषंगी गूगल एलएलसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) हैं।  मोदी ने कहा कि उन्हें गूगल के विभिन्न क्षेत्रों में किये जा रहे प्रयासों को जानकार प्रसन्नता हुई। ”चाहे यह शिक्षा के क्षेत्र में हो, पढ़ाई हो, डिजिटल इंडिया हो या फिर डिजिटल भुगतान को आगे बढ़ाने या अन्य क्षेत्रों की बात हो। पिचाई और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद सोमवार को ”गूगल फॉर इंडिया के छठे सालाना कार्यक्रम में भाग ले रहे थे।

Leave a Reply