दिशा की पड़ोसी का दावा-’बिल्डिंग के बाहर गिरी बॉडी, मौत के बाद लगी ग्रिल

सुशांत सिंह राजपूत की मौत से ठीक 6 दिन पहले उनकी मैनेजर दिशा सालियान की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। दावा किया गया कि उन्होंने कथित रूप से अपनी बिल्डिंग से छलांग लगा ली थी, उस वक्त दिशा अपने मंगेतर रोहन राय के साथ रह रही थी। ऐसे में रोहन को लेकर सवाल उठ रहे हैं कि वह कहां हैं और दिशा की मौत वाले दिन का सच क्यों नहीं बताते? इस बीच, रिपब्लिक टीवी ने दिशा की पड़ोसी का स्टिंग ऑपरेशन किया है जिन्होंने बताया कि उनकी बॉडी बिल्डिंग के बाहर गिरी थी।

“दिशा की मौत के बाद लगी ग्रिल”

उनकी पड़ोसी ने बताया कि ‘दिशा के गिरने की आवाज सुनने के बाद पूरी बिल्डिंग नीचे आ गई थी।’ साथ ही उन्होंने बताया कि ‘चूंकि बिल्डिंग नई थी तो उनके फ्लैट पर ग्रिल नहीं लगी हुई थी लेकिन दिशा के मरने के बाद ग्रिल लगा दी गई।’

जब उनसे पूछा गया कि रोहन यहां रहता है कि चला गया, तो उन्होंने कहा कि वे लोग यहां नए हैं और उन्हें कुछ नहीं पता। उन्होंने ये भी कहा कि ‘किसी को कुछ नहीं पता था कि दिशा कब आती थी कब जाती थी। जब हुआ तब पता चला ऐसा भी कोई रहता था।’

“बॉडी बिल्डिंग के बाहर गिरी थी”

उनकी पड़ोसी ने खुलासा किया कि ‘दिशा की बॉडी बिल्डिंग के बाहर गिरी थी औऱ जिसकी गाड़ी के पास गिरी थी, उसे बदनाम किया जा रहा है।’ उन्होंने आगे कहा-”देखा तो बहुत सारे लोगों ने..आवाज आई ना तो सब तुरंत आ गए। कार खड़ी थी वाइट, वो बंदा कितना सीधा- साधा था और न्यूज़ में दिखा रहे है कार लेकर फरार। वो कितना सीधा-साधा था, अकेले रहता था।”

अन्य पड़ोसी ने बताया कि “एक शख्स था जो चश्मदीद था, उसने पुलिस को फोन किया। लड़के लोग खड़े थे। चश्मदीद तो बहुत थे लेकिन जिसकी कार थी, वो इतना सीधा था…उसे भी बदनाम कर दिया। 4 महीने के लिए वो मुंबई में कुछ काम से आया था, उसका एग्रीमेंट खत्म हो गया। सब ने बोल दिया वो फरार हो गया है।”

जब उनसे पूछा गया कि क्या रोहन राय रेंट पर रहता था तो पड़ोसी ने बताया कि वो घर का मालिक था।

उनके पड़ोसी ने अंत में बताया कि इस घटना से वो सभी लोग डर गए हैं जो उस समय वहां मौजूद थे। उनके मुताबिक, “गार्ड्स भी अब तंग आ चुके हैं क्योंकि दुर्घटना के समय वे मौजूद थे। लेकिन ऐसी खबरें हैं कि चौकीदार भाग गया है, इस तरह की कोई बात नहीं है, यह दो चौकीदार हैं, जिन्होंने उसे गिरते देखा था। वो डरे हुए हैं। उन्होंने पहली बार ऐसा कुछ देखा। पुलिस उन्हें लगातार फोन करती रही है, वे सोसाइटी को छोड़ना चाहते हैं। वो न खा सकते हैं और न ही सो सकते हैं।”

Leave a Reply