Coronavirus Vaccine: दुनिया की पहली कोविड-19 वैक्सीन तैयार, रूस का दावा- सफल रहे सभी ट्रायल

दुनियाभर को अपनी चपेट में लेने वाला जानलेवा कोरोना वायरस पिछले छह महीनों से तबाही का सबब बना हुआ है. तमाम उपायों के बावजूद इस संक्रमण के ताज़ा आंकड़े सिरहन पैदा करने वाले हैं. इस महामारी के कारण अब तक पांच लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में दुनियाभर में लोग इस संक्रमण के वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. इस बीच रूस से एक अच्छी खबर सामने आई है. रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा है कि उसने कोविड-19 के लिए वैक्सीन तैयार कर ली है और इसके सभी ट्रायल सफल रहे हैं.

 

जल्द ही बाज़ार में उपलब्ध होगी वैक्सीन 

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव ने कहा कि विश्वविद्यालय ने 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी की तरफ से वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया था.

 

उन्होंने आगे कहा कि सेचेनोव विश्वविद्यालय ने दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन तैयार कर ली है और इसके सभी ट्रायल सफल रहे हैं. विश्वविद्यालय ने एक सराहनीय काम किया है. जल्द ही यह वैक्सीन लोगों के लिए बाजार में उपलब्ध हो जाएगी.

 

15 अगस्त हो लॉन्च हो सकती है भारत की कोरोना वैक्सीन

 

वहीं, इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) और भारत बायोटेक ने भी एकसाथ मिलकर कोरोना वैक्सीन तैयार कर ली है. हालांकि, अभी इसका ह्यूमन ट्रायल चल रहा है. लेकिन कई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 15 अगस्त तक यह वैक्सीन लोगों के लिए भारत में उपलब्ध हो जाएगी.

 

कई और भारतीय कंपनियों ने भी तैयार की है वैक्सीन

 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत बायोटेक के अलावा कई और भारतीय कंपनियों ने भी कोरोना वैक्सीन तैयार कर ली है. इन भारतीय फर्मों में ज़ेडियस कैडिला (Zydus Cadila), पैंसिया बायोटेक (Panacea Biotech) और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) शामिल हैं. ज़ेडियस और सीरम ने ह्यूमन ट्रायल के लिए केंद्रीय ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइज़ेशन को आवेदन किया है.

Leave a Reply