देर शाम आयी आंधी और बारिश से शहर में हुआ ब्लैक आउट

तेज आंधी और बारिश में सोमवार की शाम शहर मे ब्लैक आउट की स्थिति हो गई। बिजली कपनी के मेटेनेंस को पोल खुल गई। एक के बाद एक सभी पावर सबस्टेशन की बिजली ठप हो गई। सबौर ग्रिड से ही बिजली आपूर्ति बंद हो गई। इसकी वजह सम्पूर्ण शहर की बिजली गुल हो गई। बिजली सवा छह बजे से कटी और रात के एक बजे तक अधिकांश इलाको में आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी थी। इस दौरान लाइन पेट्रोलिंग करायी जा रही थी। ज्यादातर जगहों पर 33 केवोए हाईटेंशन लाइन और 11 हजार लाइन में फॉल्ट था। कई जगहो पर तार टूटकर गिर गया था।

शाम के लगभग 6.15 बजे सबसे पहले टीटीसी सबस्टेशन की बिजली कटी। इसके साथ साथ सिविल सर्जन सबस्टेशन की भी बिजली कट गई। इसके पांच मिनट बाद ही मायागंज और बरारी सब स्टेशन की बिजली कट गई। सेन्ट्रल जेल सबस्टेशन की बिजली 6.59 में कटी। दो मिनट बाद ही नए बने भीखनपुर सबस्टेशन की बिजली ग्रिड से कट गई। तेज आंधी में कई जगहां पर तार टूटकर भी गिर गया। डीएम कोठी के पास 11 हजार बोल्ट का तार टूटकर गिर जाने के कारण वाटर सप्लाई फीडर बंद हो गया। हालाकि आंधी के बाद सबसे पहले सीएस सबस्टेशन की बिजली रिस्टोर हुई।

7.15 में सीएस सबस्टेशन की बिजली आपूर्ति बहाल हो गई। लेकिन कुछ जगहों पर 11 कवीए लाइन मे फॉल्ट रहने के कारण कई इलाकों मं बिजली आपूर्ति शुरू नहीं हो पायी | उधर नाथनगर पावर सबस्टेशन की बिजली भी ग्रिड से बंद हो गई। 7.20 बजे तक बिजली आपूर्ति शुरू नहीं हो पायी थी। लाइन पेट्रोलिंग करायी ही जा रही थी कि 7.30 बजे नाथनगर पावर सब स्टेशन की बिजली ग्रिड से चालु हों गई। उधर मायागंज सब स्टेशन में 33 केवीए लाइन से बिजली आपूर्ति शुरू तो हो गई लेकिन मायागंज फोडर ब्रेकडाउन था। वहीँ आदमपुर फीडर की पेट्रोलिंग करायी जा रही थी। बिजली ठप रहने क कारण जलापूर्ति नहीं हो सकी। पूरे शहर को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

सबसे खराब स्थिति दक्षिणी क्षेत्र की रहीः सबसे खराब स्थिति शहर के दक्षिण इलाक में रही। रात 10 बजे तक ट्रायल ही नहीं लिया गया। सबौर और जगदीशपुर ग्रिड से बिजली आधी रात तक नहीं मिली। इसके बाद ट्रायल में विक्रमशिला मिरजानहाट को ब्रेक डाउन घोषित कर दिया गया। हालाकि मौसम के बदलन से लोगों को गर्मी से राहत तो मिली मगर, बिजली के कारण अंधेर में रहने को मजबूर रहे लोग। लम्बी कटौती से ज्यादातर घरों का इनवर्टर जवाब दे दिया। आधे घटे की आंधी के दो घंटे बाद तक बिजली चालू करन की कोई पहल नहीं हुई। इसके बाद लाइन चालू करने की काशिश को गयी, तो बारिश के कारण दिक्कत हुई।

Leave a Reply