• Mon. Jun 21st, 2021

BJP पर जीतन राम मांझी का सबसे बड़ा हमला: भाजपा नेताओं का है आतंकी कनेक्शन, नीतीश कुमार तुरंत उन्हें जेल भेजें

 बिहार में बीजेपी के साथ सरकार में शामिल जीतन राम मांझी की पार्टी ने भाजपा पर सबसे तीखा हमला बोला है. मांझी की पार्टी हम ने कहा है कि बीजेपी नेताओं का आतंकी कनेक्शन है. नीतीश कुमार को तुरंत ऐसे नेताओं को जेल भिजवाना चाहिये. मांझी की पार्टी ने ये हमला बांका मदरसा ब्लास्ट को लेकर बोला है.

मांझी की पार्टी का सबसे बड़ा हमला
मांझी की पार्टी हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने प्रेस बयान जारी किया है. दानिश रिजवान ने कहा है कि बांका के मदरसे में ब्लास्ट के बाद बीजेपी के नेता मदरसे को आतंकवादियों से जोड़ रहे थे. लेकिन बिहार पुलिस ने साफ कर दिया है कि बांका के मदरसे का आतंकवादियों से कोई लेना देना नहीं है. ब्लास्ट का कोई आतंकी कनेक्शन नहीं है.

हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा है कि बिहार पुलिस के बयान के बाद ये स्पष्ट हो गया है कि बीजेपी के नेताओं ने बिहार में सांप्रदायिक तनाव भड़काने के लिए मदरसों के खिलाफ बयान दिया था. बीजेपी के नेताओं ने साजिश के तहत दो धर्मों के बीच बखेड़ा खडा करने की कोशिश की. ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिये ताकि उनके नापाक मंसूबे पर पानी फिर सके. दानिश रिजवान ने कहा कि मदरसे के खिलाफ बयानबाजी करने वाले बीजेपी नेताओं का ही आतंकी कनेक्शन है. उनके खिलाफ जांच औऱ कार्रवाई होनी चाहिये.

गौरतलब है कि बांका मदरसा ब्लास्ट को लेकर आज जीतन राम मांझी ने भी बीजेपी पर बड़ा हमला बोला था. मांझी ने कहा था कि मदरसों में आतंकवाद की बात करने वाले देश विरोधी हैं. उन्होंने इसे दलितों से जोड़ दिया. मांझी बोले-जब दलित अपनी बात उठाता है तो उसके नक्सली करार दे दिया जाता है. उसी तरीके से जब मुसलमानों के बच्चे मदरसे में पढ़ने जाते हैं तो उन्हें आतंकवादी करार दिया जाता है. ये दलितों औऱ मुसलमानों के खिलाफ साजिश है. जो लोग मदरसों पर सवाल उठा रहे हैं वे देश के दुश्मन हैं. मांझी ने कहा कि बांका में अगर विस्फोट हुआ है तो उसकी जांच होगी लेकिन उसे आतंकवाद से जोड़ने की बात का वे पुरजोर विरोध करते हैं.

हम आपको बता दें कि बांका मदरसा विस्फोट के बाद सबसे ज्यादा बेचैनी बीजेपी में ही पसरी है. बीजेपी के विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने कहा कि मदरसे आतंकवाद के अड्डे बन गये हैं. उन्हे तत्काल बंद कराया जाना चाहिये. बीजेपी के कई औऱ नेताओं ने भी मदरसों को लेकर सवाल खड़ा किया. शुरू से ही बीजेपी मदरसों को लेकर सवाल उठाते रही है. मांझी ने मदरसों को लेकर बीजेपी के स्टैंड के खिलाफ खुला मोर्चा खोल दिया.

सरकार की सफाई के बाद मांझी औऱ आक्रामक हुए
इस बीच बिहार सरकार ने बांका ब्लास्ट को लेकर सफाई दी. बांका के डीएम औऱ एसपी ने साझा प्रेस कांफ्रेंस की. दोनों पदाधिकारियों ने कहा कि मदरसे में जो विस्फोट हुआ था वह देशी बम का था. देशी बम एक कनटेंनर में रखा था वही विस्फोट कर गया. बिहार पुलिस ने सारे एंगल से मामले की छानबीन कर ली है. किसी IED का सुराग नहीं मिला है. देशी बम के फटने से ये घटना हुई है. किसी शक्तिशाली विस्फोट का कोई सुराग नहीं मिला है. बांका के एसपी ने कहा कि मामले में कोई आतंकी कनेक्शन की बात सामने नहीं आयी है. पुलिस ने पड़ताल की तो ब्लास्ट में मारे गये ईमाम की आलमीरा से 1 लाख 65 हजार रूपये बरामद हुए हैं. इसके अलावा कोई आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद नहीं हुआ है. बांका के डीएम ने कहा कि उस मदरसे से सरकार का कोई लेना देना नहीं है. मदरसा रजिस्टर्ड नहीं है. वह रैयती यानि निजी जमीन पर बना हुआ है. वहां तकरीबन पचास बच्चे पढ़ने जाते हैं. सरकार की ओऱ से उस मदरसे को कोई सहायता नहीं दी जाती थी.