• Sat. May 21st, 2022

BJP और RJD को लेनी होगी सहयोगी से मदद, एक राज्यसभा MP को इतने वोट की जरूरत, समझिए राज्यसभा का गणित

BySumit Kumar

May 14, 2022

चुनाव आयोग ने बिहार समेत 15 राज्यों की 57 राज्यसभा (Rajya Sabha Election 2022) सीटों पर चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. बिहार में भी 5 राज्यसभा सीटों पर चुनाव होना है. अब ऐसे में इन सीटों पर किसका पत्ता कटेगा और किसको मौक़ा मिलेगा. इसकी चर्चा तेज है. हालांकि अहम सवाल ये है कि इन पांच सीटों चुनाव कैसे होंगे. चुनाव की प्रक्रिया क्या है. और इन पांच सीटों के लिए कितने-कितने वोट की जरूरत पड़ेगी. दरअसल राज्यसभा चुनाव में विधानसभा के सदस्य वोटर होते हैं. ऐसे में 243 सदस्यों वाली इस बिहार विधानसभा में पांच सीटों पर किस गणित से चुनाव होगा इसको विस्तार से समझिए।

बिहार विधानसभा में सदस्यों की कुल संख्या 243 है. 5 सीटों के लिए होने वाले चुनाव में सीधे पांच से 243 में भाग नहीं देकर एक जोड़ा जाता है. नियम के मुताबिक टोटल पांच सीटों पर होने वाले चुनाव में एक को जोड़ दिया जाता है जिसका परिणाम 6 होता है. अब 6 को पूरे विधानसभा के सदस्यों की संख्या से भाग दिया जाता है. जैसे कि चुनाव होना है 5 सीट पर तो 5+1= 6 हुआ. अब 6 का भाग 243 ( बिहार विधानसभा सदस्यों की संख्या)-243/5 = 40.6 यानी 41

चुनाव होना है 5 सीट पर 5+1= 6

अब 6 से भाग 243 ( बिहार विधानसभा सदस्यों की संख्या)- 243/5 = 40.6 यानी 41 वोट

बीजेपी-77 विधायक

आरजेडी-76 विधायक

जदयू-45 विधायक

राज्यसभा गणित के मुताबिक एक सीट के लिए 41 विधायकों का वोट चाहिए होगा. यानि कि जिस पार्टी के पास जितने विधायक होंगे. उतने राज्यसभा के सदस्य चुने जाएंगे. इस हिसाब से देखा जाए तो बिहार विधानसभा में BJP की संख्या 77 है. राज्यसभा के एक सीट के लिए 41 वोट चाहिए, ऐसे में एक सीट तो बीजेपी को आराम से मिल जाएगी, लेकिन दूसरी सीट के लिए उन्हें अपने सहयोगी दल से मदद लेना है. यानि कि BJP को दो सीटों के 82 वोट चाहिए, उनके पास 77 वोट है. अब उसे और 5 वोट चाहिए जिसकी पूर्ति JDU और HAM मिलकर करेंगे।

आरजेडी (RJD) की बात करें तो आरजेडी के पास 76 विधायक है. ऐसे में राज्य सभा की एक सीट तो आरजेडी को आसानी जाएगी. हालांकि दूसरे सीट के लिए कांग्रेस या फिर लेफ्ट दल से सहायता लेनी होगी. यानि कि RJD को दो सीटों के 82 वोट चाहिए, उनके पास 76 वोट है. अब उसे और 6 वोट चाहिए जिसकी पूर्ति लेफ्ट और कांग्रेस मिलकर करेंगे. वहीं JDU की संख्या 45 है तो जदयू का एक राज्य सभा सीट कंफर्म है. बाकि चार वोट ये BJP को दे सकते हैं।

बिहार की जिन पांच राज्यसभा सीटों पर चुनाव होने वाले हैं, उनके सदस्यों का कार्यकाल 7 जुलाई को खत्म हो रहा है. जिसमें केंद्रीय मंत्री और जदयू नेता आरसीपी सिंह, आरजेडी की मीसा भारती, भाजपा के गोपाल नारायण सिंह और सतीश चंद्र दुबे के साथ-साथ शरद यादव की सीट शामिल है. शरद यादव की सदस्यता तो 4 दिसंबर 2017 से ही खाली माना जा रहा है. आरसीपी सिंह को JDU फिर से राज्यसभा भेजेगी या नहीं इस पर अभी सस्पेंस बना हुआ है।

बता दें कि बिहार समेत 15 राज्यों की कुल 57 राज्यसभा सीटों पर 10 जून को चुनाव होंगे. इन राज्यसभा सीटों के लिए 10 जून को वोटिंग होगी. उसी दिन ही शाम 5:00 बजे से वोटों की गिनती की जाएगी और पूरी प्रक्रिया 13 जून तक पूरी कर ली जाएगी. चुनावों के नोटिफिकेशन 24 मई को जारी होगा. वहीं 31 मई को नामांकन की आखिरी तारीख होगी. सभी 57 सीटों पर 10 जून को सुबह 9 बजे से 4 बजे तक वोट डाले जाएंगे।

बिहार में राज्यसभा की 5 सीट समेत 15 राज्यों की कुल 57 सीटों पर चुनाव का ऐलान

24 मई को नोटिफिकेशन

31 मई तक नामांकन

1 जून को स्क्रूटनी

3 जून तक नाम वापसी

वोटिंग-10 जून को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक

पूरी प्रक्रिया 13 जून तक पूरी कर ली जाएगी