• Wed. Oct 20th, 2021

बिहार: चौथी बेटी पैदा होने पर पिता ने घर ले जाने से किया इनकार, पोखर में जान देने की कोशिश

ByShailesh Kumar

Oct 14, 2021

बगहा में बेटी पैदा होने पर पिता ने जच्चा-बच्चा को घर ले जाने से इनकार कर दिया। चौथी पुत्री के जन्म से वह गुस्से में गांव के पोखर में कूद कर आत्महत्या का प्रयास किया। हालांकि लोगों ने उसे बचा लिया। इधर, प्रसूता 12 घंटे तक परिजनों के इंतजार में अस्पताल में पड़ी रही। बाद में अस्पताल प्रंबधन आगे आया। समझाने व सख्ती के बाद सास पोती व बहू को घर ले गई। मामला अनुमंडलीय अस्पताल का है।

मंगलवार की देर रात नगर के शस्त्रीनगर निवासी पोखरा टोला के प्रदीप सहनी की पत्नी रीता देवी ने बगहा अनुमंडलीय अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया। उसके बाद से पिता ने सिर्फ इसलिए हंगामा खड़ा कर दिया क्योंकि प्रसूता ने बेटी को जन्म दिया था। बेटे के इंतजार में चौथी बेटी का जन्म होने पर मां-बेटे ने प्रसूता व बच्ची को घर ले जाने से इनकार कर दिया। प्रसूता ने परिजनों को जब भरोसा दिलाया कि वह नवजात का पालन पोषण स्वयं करेगी। इसकी सूचना पर अस्पताल प्रशासन ने भी सख्ती बरती तो मामला सुलझा।

जानकारी मिलते ही पोखर में कूदा पिता

बेटे के पैदा होने की आस लगाये प्रदीप सहनी को को पुत्री होने की जानकारी मिली। जानकारी मिलते ही वह गांव के पोखरा में कूद गया। वह आत्महत्या कर लेना चाह रहा था। हालांकि ग्रामणों ने मशक्कत कर उसे पोखर से बाहर निकाला। आशा कर्मी पुष्पा देवी ने बताया कि मैंने ही उसे पुत्री होने की बात बताई। इसके बाद वह पोखर में कूद गया। बाहर निकलने के बाद वह पुत्री के घर आने पर हत्या कर देने की धमकी दे रहा था।