सोशल मीडिया पर भागलपुर के युवक ने लिखी आत्महत्या की पोस्ट, हरकत में आयी पुलिस और किया गिरफ्तार

पत्नी की हरकतों से बुरी तरह निराश हो चुके भागलपुर के ऋषिदेव कुमार को पुलिस मौत के मुंह से निकाल लाई। वह आत्महत्या करने की तैयारी कर रहा था। अपने जीवन की निराशा में उसने अपने फेसबुक आईडी से आत्महत्या करने की बात लिखी तो सिटी एएसपी पूरण झा हरकत में आये इसके बाद एएसपी ने त्वरित कार्यवाही करते हुए युवक की तलाश में जुट गए। करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद आखिरकार पुलिस को सफलता मिली और युवक ऋषिदेव को पुलिस ने ढूंढ़ निकाला।

तिलकामांझी थाने में सिटी एएसपी पूरण झा, इशाकचक इंस्पेक्टर संजय सुधांशु, तिलकामांझी थानेदार राजरतन और जोगसर थानेदार अजय अजनबी ने ऋषिदेव की काउंसलिंग की। पुरे मामले को समझा और जीवन का महत्व बताकर उसे निराशा से उबारने की कोशिश की।

उसे कहा, किसी के जाने से मौत को गले लगाना आखिरी रास्ता नहीं हो सकता। जीवन का अंत किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। उसे कानून के बारे में भी बताया कि आत्महत्या करना गुनाह है। इसमें सजा भी हो सकती है। करीब घंटे भर समझाने के बाद रात 1 बजे एएसपी पूरण झा ने उसे और उसके पिता गुरुदेव साह को आगे की कार्रवाई के लिए इशाकचक पुलिस के हवाले कर दिया।

क्यों करना चाहता था ऋषिदेव आत्महत्या 

ऋषिदेव ने बताया की वह गंजी मिल में काम करता है। पत्नी से हल्का विवाद हुआ तो 25 मार्च को घर से चली गई। वह दोपहर में खाने को घर आया तो पत्नी नहीं मिली। इसके बाद उसने इशाकचक थाने में आवेदन भी दिया था। पत्नी से बिछुड़ने के गम से वह आहत था। उसकी जीने की इच्छा खत्म हो गई थी। वह मरना चाहता था, इसलिए फेसबुक पर ऐसा पोस्ट लिख डाला।

Leave a Reply