• Fri. Jul 30th, 2021

The Voice of Bihar-VOB

खबर वही जो है सही

प्रशांत किशोर से मीटिंग के बाद सरद पवार ने बुलाई विपक्षी दलों की बैठक

ByShailesh Kumar

Jun 21, 2021

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने मंगलवार को विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है। परवार ने यह बैठक चुनावी राणनीतिकार प्रशांत किशोर से 10 दिन में दूसरी बार सोमवार को मुलाकात के बाद बुलाई है। गैर-कांग्रेसी दलों की इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ एकजुट होने और अन्य संभावनाओं पर बातचीत हो सकती है।

रिपोर्ट के मुताबिक इस बैठक में टीएमसी के नेता यशवंत सिन्हा राष्ट्र मंच के प्रतिनिधियों के साथ-साथ कुछ और विपक्षी दल के नेता मंगलवार को शाम 4 बजे पवार से मुलाकात करेंगे। इस बैठक में 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले चुनाव को लेकर भी चर्चा हो सकती है। बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से ठीक पहले यशवंत सिन्हा टीएमसी में शामिल हुए।

सिन्हा के संगठन राष्ट्र मंच की ओर से भेजे गए आमंत्रण में कहा गया है कि शरद पवार जी और श्री यशवंत सिन्हा वर्तमान राष्ट्रीय परिदृश्य पर चर्चा की सह-अध्यक्षता कर रहे हैं। यशवंत सिन्हा ने बैठक में आपकी उपस्थिति और भागीदारी का अनुरोध किया है।

बैठक में कौन-सौन से लोग होंगे शामिल?

बैठक में जिन लोगों को बुलाया गया है उसमें राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता मनोज झा, आम आदमी पार्टी (आप) के संजय सिंह और कांग्रेस नेता विवेक तन्खा शामिल हैं। तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रमुक को अब तक कोई निमंत्रण नहीं मिला है और उसका कहना है कि उसे बैठक की जानकारी नहीं है। कांग्रेस को आमंत्रित नहीं किए जाने की शुरुआती रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए महाराष्ट्र एनसीपी के नेता नाना पटोले ने हा कि लोकतंत्र में हर किसी को वह करने का अधिकार है जो वह चाहते हैं। हम किसी को नहीं रोकेंगे। लेकिन कांग्रेस के बिना कोई मोर्चा नहीं हो सकता है।

15 दिनों के अंदर यह दूसरी मुलाकात

मीडिया रिपोर्ट की माने तो शरद पवार ने दिल्ली में प्रशांत किशोर संग बैठक की। बीते 15 दिनों के अंदर दोनों की यह दूसरी मुलाकाता है, जिसके बाद सियासी अटकलें फिर से तेज हो गई हैं। सियासी हलकों में यह कहा जा रहा है कि अगले लोकसभा चुनावों में विपक्षी दल पीएम मोदी के खिलाफ अगले चुनावों में एक साझा प्रत्याशी उतार सकते हैं। इसलिए प्रशांत किशोर के साथ एनसीपी चीफ की मुलाकात को अहम माना जा रहा है।