• Wed. Oct 20th, 2021

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को दिल्ली में तैयार हो रहे 37 हजार बेड

ByShailesh Kumar

Aug 25, 2021

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को दिल्ली में कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए की जा रही तैयारियों का निरीक्षण किया। स्वास्थ्य मंत्री ने तीसरी लहर के प्रकोप से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों के बारे में बताया कि 12 हजार आईसीयू सहित 37 हजार कोविड-19 बेड तैयार किए जा रहे हैं। आवश्यक दवाओं के साथ-साथ मेडिकल ऑक्सीजन की क्षमता को भी बढ़ाया जा रहा है। बच्चों और बुजुर्गों के लिए भी दिल्ली सरकार विशेष इंतजाम कर रही है।

सत्येंद्र जैन कहा कि राजधानी में 17 नए मामलों के साथ संक्रमण दर सोमवार को 0.04 फीसदी थी। पिछले तीन दिनों से कोई मौत भी दर्ज नहीं हुई। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार तीसरी लहर का मुकाबला करने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था कर रही है। 12 हजार आईसीयू सहित 37 हजार कोविड-19 बेड स्थापित किए जा रहे हैं। पर्याप्त रूप से ऑक्सीजन और आवश्यक दवाओं के उत्पादन पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। दिल्ली सरकार बच्चों और बुजुर्गों के स्वास्थ्य और सुरक्षा पर ध्यान देते हुए विशेष इंतजाम कर रही है। कहा कि, हम दिल्ली में कोविड-19 की स्थिति की लगातार निगरानी करते हुए अन्य राज्यों की स्थिति पर भी नज़र रख रहे हैं, जहां स्कूल खोल दिए गए हैं।

कोविड-19 के खिलाफ तैयारियों के बारे में बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं के उत्पादन को बढ़ाने का निर्देश दिया है। किसी भी कंपनी को किसी भी दवा के लिए अतिरिक्त राशि लेने का कोई अधिकार नहीं है। सत्येंद्र जैन ने कहा कि हम चिकित्सा के बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाने की ओर कड़ा परिश्रम कर रहे हैं। दिल्ली को तीसरी लहर से बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। यदि तीसरी लहर आती भी है तो हम उससे निपटने के लिए सभी मोर्चों पर काम कर कहीं ढील नही छोड़ रहे हैं। लेकिन हमारा प्राथमिक ध्यान यह सुनिश्चित करने पर है कि दिल्ली में तीसरी लहर की स्थिति उत्पन ही न हो।