स्टेट बैंक एटीएम उखाड़ कर 16.59 लाख कैश ले जाने के मामले में पुलिस ने चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

हाजीपुर : बिहार के हाजीपुर में औद्योगिक थाना क्षेत्र के राजपूत कॉलोनी शंकर टॉकिज के समीप से बीते 3 दिसंबर को 16.59 लाख कैश लोड स्टेट बैंक एटीएम उखाड़ कर ले जाने के मामले में पुलिस ने चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बदमाशों के पास से तीन लाख रुपये नकद, लूट की घटना में इस्तेमाल में लायी गयी फोर्स कंपनी की गाड़ी व पांच मोबाइल को भी बरामद किया है. इस मामले में शामिल पांच अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है. पकड़े गये बदमाशों में एक पुलिसकर्मी का पुत्र बताया गया है. पुलिस को यह सफलता ओएलएक्स पर कार की बिक्री के लिए डाले गये एक एड से मिली है. यह जानकारी एसपी जगुनाथ रेड्डी ने शनिवार को मीडिया को दी.

एसपी ने बताया कि एटीएम लूटकांड के मामले में घटनास्थल के आसपास से मिले सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कांड के उद्भेदन व बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए सदर एसडीपीओ राघव दयाल के नेतृत्व में औद्योगिक थानाध्यक्ष जैनेंद्र कुमार सिंह, लालगंज थानाध्यक्ष व सशस्त्र बल की एक टीम गठित की गयी थी. जांच के दौरान लालगंज थानाध्यक्ष सुनील कुमार को ओएलएक्स पर एटीएम लूट की घटना में शामिल फोर्स कंपनी की कार की बिक्री का एड दिखा. इसके बाद इसको डालने वाले पटना रूपसपुर थाना क्षेत्र के अर्पित कुमार से पुलिस ने संपर्क किया तो पता चला कि कार उसके दोस्त अमित की है.

उसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस टीम ने रूपसपुर थाना क्षेत्र रंजन पथ गोला रोड के इंद्रावती देवी विजय पैलेस अपार्टमेंट में पुलिस ने छापेमारी की. वहां से जहानाबाद के अमित कुमार और राहुल कुमार को गिरफ्तार किया गया. वहां से पुलिस ने एक बैग में रखा 1.30 लाख तथा अमित की पॉकेट से 1.70 लाख रुपये बरामद किया. इसके बाद पुलिस ने उसके सहयोगी सीवान जिले के मानसिंह थाना के जसौली निवासी बिरजू कुमार और रूपसपुर थाने के प्रियदर्शी नगर निवासी अर्पित कुमार को गिरफ्तार कर लिया. अर्पित के पिता हाजीपुर जेल में पदस्थापित बताये गये हैं. एसपी के अनुसार इस मामले का बेउर जेल में बंद फुलवारीशरीफ के निहाल के लिंक को खंगाला जा रहा है. एटीएम मशीन की अभी बरामदगी नहीं हो सकी है. पुलिस टीम छापेमारी कर रही है.

Leave a Reply