सेंट्रल रेंज के आईजी ने की बड़ी कार्रवाई पुलिस की सेवा से बर्खास्त किए गए तीन पुलिस अफसर

 

चिराग तले अंधेरा ये मुहावरा तो सबने सुना था लेकिन इस मुहावरे को सच साबित किया है बिहार पुलिस के अधिकारियों ने एक ओर जहां सूबे के मुखिया पूरे राज्य सहित देश मे पूर्ण शराबबंदी के गुणगान करते फुले नही समा रहे मगर उनको खुद ही इस बात की जानकारी नही की उनका ही सिक्का खोटा है एक तरफ वो शराब पीने वाले और बेचने वाले के खिलाफ कार्यवाही करने को कहते है शराब मिलने के बाद नष्ट भी किया जाता है लेकिन तब क्या हो जब उनके ही पुलिस वाले शराब माफियाओ का साथ दे वो भी महज चंद पैसे की घूसखोरी के लिए। फिलहाल मुख्यमंत्री महोदय का तो पता नही लेकिन पुलिस के महानिरीक्षक ने इस बात पर कार्यवाही की है।

शराब माफियाओं का साथ देने वाले पटना पुलिस में रहे तीन अफसरों के खिलाफ सेंट्रल रेंज के आईजी संजय सिंह ने बड़ी की कार्रवाई की है. आरोपी तीनों अफसरों को पुलिस की सेवा से हमेशा के लिए बर्खास्त कर दिया है.

जिन तीन पुलिस अफसरों को पुलिस की नौकरी से हटाया गया है, उनमें दो सब इंस्पेक्टर और एक एएसआई है. जिस वक्त इन तीनों के उपर शराब माफियाओं का साथ देने का आरोप लगा था, उस दौरान ये सभी पटना के ही बेउर थाना में पोस्टेड थे. सब इंस्पेक्टर विशम्भर प्रसाद और सुनील कुमार पर पिछले साल 2019 में शराब माफिया का साथ देने का आरोप लगा था.

इन पर आरोप है कि इन्होंने ने रुपए लेकर अवैध शराब के साथ पकड़े गए शराब माफिया को थाना से छोड़ दिया था. इसी तरह बेउर थाना में ही पोस्टेड एएसआई श्रवण कुमार के उपर 2017 में शराब माफियाओं के साथ मिलकर अवैध तरीके से देशी शराब बनवाने और उसे बेचने का आरोप लगा था.

Leave a Reply