सुशांत सिंह मामले में कंगना ने किए थे कई बड़े नाम के खुलासे, अगर लटकी हुईं मिली, तो सुसाइड मत समझना

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में एक्ट्रेस कंगना रनौत काफी मुखर रही हैं. उन्होंने इस मामले में आदित्य चोपड़ा और करण जौहर जैसे कई लोगों के नाम लिए हैं. अब उन्होंने कहा कि अगर वह अपने घर में फांसी में लटकी पाई जाती हैं, तो इसका मतलब यह नहीं है कि उन्होंने सुसाइड कर लिया.

कंगना रनौत अपनी बातों में नहीं उलझती हैं और जरूरत पड़ने पर अपने मन की बात कहती हैं. सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में एक्ट्रेस सबसे आगे रही हैं और एक विस्फोटक इंटरव्यू में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गजों को के चेहरे को उजागर किया है. कंगना ने करण जौहर और आदित्य चोपड़ा पर सुशांत के करियर को तबाह करने का आरोप लगाया और बॉलीवुड में लोग किस तरह काम करते हैं, उसके बारे में बताया.

सुशांत सिंह राजपूत के मामले में चल रही जांच में, यह व्यापक रूप से बताया गया है कि सुशांत के सुसाइड से एक दिन पहले एक पार्टी रखती गई थी, जिसमें एक राजनेता के बेटा भी शामिल हुआ था. जहां न्यूज चैनलों ने इस खास शख्स के नाम का खुलासा करने से मना किया है, वहीं कंगना ने उस राजनेता के बेटा के नाम लिया और कहा कि भले ही सभी को नाम पता हो, लेकिन किसी में भी इसके बारे में कहने की हिम्मत नहीं है.

मामले पर कंगना रनौत की टीम के एक ट्वीट में लिखा, “हर कोई जानता है लेकिन कोई भी उसका नाम नहीं ले सकता, करण जौहर के सबसे अच्छे दोस्त और दुनिया के सबसे अच्छे सीएम के सबसे अच्छे बेटे, जिसे प्यार से बेबी पेंग्विन कहा जाता है. कंगना कह रही है कि अगर मैं अपने घर में फांसी के फंदे में लटकती मिलती हूं, तो कृपया जानिए मैंने आत्महत्या नहीं की.”

 

सुशांत सिंह सुसाइड मामले में मुंबई पुलिस के जांच के बीच सुशांत के पिता केके सिंह ने पटना के राजीव नगर पुलिस स्टेशन में रिया चक्रवर्ती के खिलाफ मामलमा दर्ज करवाया था. इसके बाद बिहार पुलिस ने भी इस मामले की जांच शुरू कर दी. केके सिंह ने आईपीसी की धारा 306, 341, 342, 380, 406 और 420 के तहत उक्त प्राथमिकी दर्ज करायी है. सुशांत सिंह के पिता ने रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार के सदस्यों समेत छह लोगों के खिलाफ 25 जुलाई करे उक्त प्राथमिकी दर्ज करायी है.

सुशांत के पिता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि रिया, उसके परिजनों और सहयोगी कर्मचारियों ने षड्यंत्र के तहत मेरे बेटे के साथ धोखाधड़ी और बेईमानी की. उसे काफी समय तक बंधक बनाकर रखा और अपने आर्थिक लाभ के लिए उसपर दबाव डालकर उसका इस्तेमाल किया और अंत में मेरे बेटे को आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया.

Leave a Reply