भागलपुर:मायागंज अस्पताल की दो नर्स कोरोना पॉजिटिव

सोमवार को मायागंज अस्पताल की दो नर्स समेत जिले के नौ लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया । इनमें शहरी क्षेत्र में चार , शाहकुंड प्रखंड में दो व सबौर , जगदीशपुर व कहलगांव प्रखंड में एक एक कोरोना पॉजिटिव पाये गये । इसके साथही जिले में कुल कोरोना मरीजों का आंकड़ा 500 के पार होकर 505 पर पहुंच गया । सिविल सर्जन ने बताया कि मायागंज अस्पताल के एक विभाग में तैनात 40 व 35 वर्षीय नर्स , तातारपुर निवासी 45 वर्षीय युवक व उसकी 32 वर्षीय पत्नी , जगदीशपुर प्रखंड के जिच्छो तिलकामांझी निवासी 24 वर्षीय महिला , जगदीशपुर प्रखंड निवासी 55 वर्षीय अधेड़ व शाहकुंड प्रखंड के मानिकपुर गांव निवासी 42 वर्षीय वइसी प्रखंड के अमखोरिया गांव निवासी 46 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं । शाहकुंड में पाये गये दोनों कोरोना पॉजिटिवशख्स शाहकुंड प्रखंड क्षेत्र में बतौर विकास मित्र कार्यरत हैं । सभी को भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया गया है । वहीं इन लोगो के संपंर्कियों की सूची बनायी जा रही है ।

काउंसलर के संपर्क में आये चार को कोरोना

रविवार को मायागंज के एक विभाग में तैनात जो काउंसलर पॉजिटिव पाया गया था , उसके संपर्क में आये चार लोग कोरोना पॉजिटिव पाये जा चुके हैं । 24 घंटे के अंदर उसके संपर्क में आये चार लोग कोरोना के शिकार हो चुके हैं । इसमें मायागंज की दो नर्स व तातारपुर के रहने वाले एक दंपती हैं । काउंसलर जिस विभाग में काम करता है , वहां की 12 नर्स का सैंपल लिया गया है ।

प्रखंड के बाद अब शहरी क्षेत्र बन रहा कोरोना का गढ़

प्रवासी मजदूरों के कारण अबतक जिले के विभिन्न प्रखंड कोरोना के गढ़ बने हुए थे । लेकिन पांच दिन में यह परिस्थितियां पूरी तरह से बदल चुकी हैं । अबतक शहर के विभिन्न मोहल्ले से कुल 34 कोरोना पॉजिटिव पाये जा चुके हैं । इनमें से 16 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं । बीते चार दिन में तो शहरी क्षेत्र में 15 कोरोना के नये मामले पाये जा चुके हैं ।

87 लोगों की स्क्रीनिंग 19 को होम क्वारंटाइन

सदर अस्पताल के फ्लू कॉर्नर में सोमवार को कोरोना स्क्रीनिंग कराने वालों की भीड़ उमड़ी । सोमवार को जहां 87 लोगों की कोरोना स्क्रीनिंग की गयी , वहीं 19 लोगों में कोरोना का लक्षण पाये जाने के बाद उन्हें 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन में भेज दिया गया । कोरोना स्क्रीनिंग कराने वालों में 43 लोग ओपीडी में इलाज कराने के लिए आये मरीज थे ।

Leave a Reply