बिहार के 14 जिलों में बाढ़ का कहर, 50 लाख लोग हुए प्रभावित

 

बिहार में बाढ़ का कहर जारी है. बाढ़ के कारण 14 जिलों के करीब 50 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं. बाढ़ के कारण लाखों लोग बेघर होकर सड़क किनारे अपना गुजारा कर रहे हैं. सरकार की ओर से दावा किया जा रहा है कि राज्य के 14 जिलों के 112 प्रखंडों के बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत एवं बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाए जा रहे हैं.

बाढ़ प्रभावित लोगों को सरकार की ओर से आर्थिक मदद की जा रही है. अब तक बाढ़ से प्रभावित एक लाख 94 हजार परिवारों के खाते में 6-6 हजार की सहायता राशि भेज दी गई है. बाकी प्रभावित लोगों के बीच पैसा भेजने का काम जारी है. बाढ़ प्रभावित लोगों के कई जगहों पर 1340 सामुदायिक किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन करीब 9 लाख लोग भोजन कर रहे हैं. यह सरकार का दावा है.

बाढ़  प्रभावित जिलों में सड़क मार्ग पर परिचालन काफी प्रभावित हुआ है. कई जिलों में तो ठप हो गया है. कई एनएच और एसएच के उपर से पानी बह रहा हैं. छपरा-मुजफ्फरपर एनएच 722 पर आवागमन को बंद हो गया है. मोतिहारी में एसएच 74 पर भी पानी के कारण गाड़ियों के परिचालन बंद है. बच्चा प्रसाद सिंह कॉलेज के पास सड़क पर चार फीट पानी बह रहा है. बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए सबसे अधिक परेशानी छोटे बच्चों को लेकर हो रही है. इसके अलावे मवेशियों को चारा जुटाने में काफी संघर्ष करना पड़ रहा हैं. फिलहाल नेपाल के तराई इलाके में बारिश बंद हो गई है. जिससे इन इलाकों में कुछ दिनों के बाद राहत मिल सकती है.

Leave a Reply