बदइंतजामी के बीच घर जाने को हजारों बिहारी मजदूर, रिक्शा चालक और फैक्ट्री कर्मचारी बेताब, आनंद विहार बस अड्डे पर उमड़ी भीड़

DELHI : आनंद विहार बस अड्डे पर हजारों लोगों की भीड़ जमा हो गई है. बदइंतजामी के बीच घर जाने को हजारों बिहारी मजदूर, रिक्शा चालक और फैक्ट्री कर्मचारी बेताब हैं. अपने-अपने अपने गांव की ओर लौटने के लिए हजारों की तादाद में निकल पड़े हैं. इस भीड़ में बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के लोग शामिल हैं.

कई लोग पैदल अपने गांव की ओर चल पड़े हैं. लॉकडाउन के चौथे दिन अपने-अपने घर के लिए पलायन एक बड़ी चुनौती बनकर सामने दिखा. इससे निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों ने कई कदम उठाए हैं. दिल्ली-एनसीआर का हाल सबसे बुरा है, जहां मजदूर, रिक्शा चालक और फैक्ट्री कर्मचारी अपने अपने गांव की ओर लौटने के लिए हजारों की तादाद में निकल पड़े हैं.

भीड़ में जुटे मजदूरों को कोरोना से संक्रमित हो जाने की कोई चिंता नहीं है. किसी दूसरे को संक्रमित कर देने का अंदेशा भी नहीं है. इन्हें घर जाना है, और इसीलिए बस में कैसे भी टिक जाने की बेताबी है. आनंद बिहार बस बड्डे पर भी मजदूरों का ऐसा ही रेला है. मजदुरों का कहना है कि उनके पैसे खत्म हो गए हैं. भूख है, मगर जेब खाली है. इसलिए वे अपने घर को लौट जाना चाहते हैं. आज सुबह ही सीएम नीतीश की ओर से अपील कर उन्हें रुकने के लिए कहा गया था. राज्य सरकारों से उनके लिए व्यवस्था करने की बात कही गई थी.

Leave a Reply