कौन हैं,सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच करने वाले IPS विनय तिवारी

 

पटना सेंट्रल के SP विनय तिवारी मूलत: उत्तर प्रदेश के रहनेवाले हैं। उनका गांव ललितपुर है जहां उनका जन्म और शुरूआती पढ़ाई भी हुई। IPS विनय के पिता एक किसान हैं । खेती से यूपी बिहार में किसानों को कितनी आमदनी होती है ये किसी से छिपा नहीं है। विनय तिवारी के पिता ने कर्ज लेकर अपने बेटे को पढ़ाया। विनय तिवारी कभी इंजीनियर बनना चाहते थे। इसलिए वो स्कूल की पढ़ाई खत्म करने के बाद कोटा चले गए और वहां तैयारी कर IIT-BHU में दाखिला पाने में सफल रहे। आगे की स्लाइड्स में आपको IPS विनय तिवारी के बारे में बताएंगे कुछ ऐसी बातें जो शायद उन्हें और उनके परिवार के लोगों को ही पता हैं।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत एक ऐसे युवा की मौत थी जिसे अभी बहुत कुछ हासिल करना बाकी था। SP विनय तिवारी भी उसी युवा पीढ़ी की पौध हैं। जाहिर है कि सुशांत की मौत से वो भी अंदर से बेचैन थे। इसका पता उनकी एक पोस्ट से चलता है जिसमें उन्होंने सुशांत को श्रद्धांजलि दी थी। उन्होंने लिखा था कि ‘सुशान्त सिंह राजपूत पुर्णिया / पटना के थे।

यह उम्र जाने की नहीं थी पर कई बार हम इंसान की व्यक्तिगत स्थिति को समझ नही सकते, ईश्वर सुशान्त की आत्मा को शांति दे और उनके परिजनों को यह अपार दुःख झेलने की शक्ति भी दे।’ विनय ने इस पोस्ट के आखिर में अपनी एक कविता लिखकर सुशांत को याद किया था। देखिए- ‘रहने को सदा दहर में… आता नहीं कोई… तुम जैसे गए… ऐसे जाता नहीं कोई… श्रद्धांजलि सुशांत सिंह राजपूत’

2015 बैच के IPS हैं और 2019 में उन्हें पटना के सेंट्रल एसपी की कमान दी गई थी। गोपालगंज का SDPO रहते हुए भी उन्होंने कई केस सुलझाए थे। विनय किसान के बेटे हैं इसलिए उनमें ग्राउंड रिएलिटी की परख करने की भी काबिलियत है।

विनय तिवारी धर्म के साथ कर्म में भी यकीन रखते हैं। अपने फेसबुक पेज पर उन्होंने दलाई लामा का स्वागत करने की तस्वीर लगाते हुए जो पोस्ट किया है उससे ये साफ झलकता है कि वो आध्यात्मिक प्रवृति के भी हैं। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि ‘ संतों के चेहरे का तेज, उनके आभामंडल का ओज, उनके आंखों का सहज सेज, हाथों में उष्मित लहर और शब्दों में पुष्पित ओस। मानवता के प्रकाश पुंज गुरु दलाई लामा जी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। निरंतर पथ प्रदर्शित करते रहें।

 

2 Replies to “कौन हैं,सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच करने वाले IPS विनय तिवारी”

  1. This type case make a separate team they can get the power from central government he can search everything in every where other wise law is faild by Maharashtra government or police this is don’t make political

  2. समय बहुत बलवान होता है परम ब्रम्ह पर्मेस्वावर सब को दण्ड देते है ओर जब उनका दण्ड पड़ता है तो उसमें आवाज नहीं होता सिटी एसपी श्री विनय तिवारी केस no 375/19 एसकेपुरी केस में अपने पद का दुरुपयोग कर बहुत जल्डवाजी में जबरन गिरफ्तार करवा दिया आज परम ब्रम्ह परमेश्वर उन्हें बिना कसूर के दण्ड दे रहा है अपने कर्मो का फल सबको भुगतना पड़ता है बिना किसी कसूर का ही मिलता है इस केस में एसएसपी पटना श्री गरिमा मालिक और जोनल आईजी श्री संजय कुमार भी मेरे घर को कब्जा करवाने में पूरा पूरा कोशिश किए और मेरे आवेदन देने की बाद भी मेरा केस अब तक नहीं किया गया मेरे गुहार के बाद भी दरोगा श्री विकास कुमार और दरोगा श्री अनुप्रिया को अब तक उन पर केस नहीं चलाया और नहीं उन्हें अब तक गिरफ्तार ही किया जब पुलिस विभाग का झूठा केस में गिरफ्तारी हो सकती है तो मेरा सच्चा केस में एसएसपी और आईजी पर कारवाही क्यों नहीं जिन्होंने मेरे आवेदन को जमीन पर फेकते हुवे मुझे चले जाने को बोला ओर कहा कि में आपकी कोई मदद नहीं करुगा आप सभी उस परम ब्रम्ह परमेश्वर से डरे में तो उन्हें मानता हूं उनका दर्शन भी मुझे होता है आज नहीं तो कल उन सभी को उनके कर्मो का दण्ड ऊपर वाला जरूर देगा आज अपना पावर दिखा दो जितना दिखाना है पर ये ना भूलो की आगे ऊपर वाला तेरे लिए भी डंडा तैयार रखा है जब परेगा तो आवाज नहीं होगा जैसे मुझे मेरा बहुत कुछ इन लोगो ने छीना मेरा करोड़ों का घटा दिया इससे बड़ी अदालत है जहा सारे पावर ख़तम हो जाता है और तब समझ में आता है और रोना परता है तब याद अता हे की ये मेरे किस गुनाह की सजा है जो मैने किया ही नहीं और हाई कोर्ट में तो उन्हें जवाब देना ही पड़ेगा कि कैसे आईजी साहब अब तक मेरे आवेदन पर दरोगा को गिरफ्तार क्यों नहीं किए ना ही जांच मुझे पता है आज नहीं तो कल मुझे नयाए जरूर मिलेगा क्युकी सच करवा होता है और न्याय मिलने में थोड़ा वक्त लगता है आज नहीं तो कल हाई कोर्ट खुलेगा ओर जांच भी होगा और पुलिस विभाग को जवाब भी देना होगा कि मेरे घर पर क्यों tor फोर और रंदरी मार पिट ओर अपमान करवाया और पुलिस विभाग को इतना ही सहानभूति हे तो उस लड़की के लिए क्यों नहीं घर बनवा देती है मेरे घर को कैसे कब्जा करवा सकती है जो मेरी मा ने मुझे गिफ्ट दिया है पर पुलिस विभाग को कोई फर्क नहीं पड़ता मैने डीजीपी साहब से भी गुहार लगाया पर अब तक उन पुलिस वालो पर कोई कारवाही नहीं हुआ हाई कोर्ट में तो उन्हें जवाब देना ही पड़ेगा कि वो अब तक मेरे आवेदन पर कारवाही क्यों नहीं लिए और अब तक क्यों नहीं जाच ही हुआ ज्यादा से ज्यादा पुलिस विभाग फिर से कोई झूठा केस कर के अंदर कर देगी पर में अपने नयय के लिए larata रहूंगा और आज नहीं तो कल तो nayay मिलेगा कल तो आपकी पावर भी ख़तम हो जाएगी आज जितना जुल्म करना है कर ले पर ऊपर वाले का दण्ड जब पारेगा तो उसमें आवाज नहीं होगा आप सभी से में अपने केस में nayay करने की अपील करता हूं मैने माननीय प्रधान मंत्री श्री मोदी जी ओर गृह मंत्री श्री अमित शाह को भी आवेदन दिया है और न्याय की प्रतीक्षा है

Leave a Reply