कोरोना :- भागलपुर में भी अब संदिग्ध मरीजों के हाथों पर लगेगा होम क्वारंटाइन का ठप्पा, 14 दिन बाद ही मिटेगा

भागलपुर:-मायागंज अस्पताल में जांच के बाद होम क्वारंटाइन में भेजे गए संदिग्ध मरीजों की कलाई पर ठप्पा लगाने की तैयारी चल रही है।

ठप्पा लगने के बाद संदिग्ध मरीज अगर बाहर घूमेंगे तो आसानी से पकड़ में आ जाएंगे। इसलिए संदिग्ध मरीज 14 दिनों तक घर से नहीं निकलेंगे। दरअसल, मायागंज अस्पताल प्रशासन के पास लागातार शिकायतें मिल रही थीं कि होम क्वारंटाइन में रखे गए संदिग्ध बाहर घूम रहे हैं। इसके बाद अस्पताल प्रशासन ने यह फैसला किया है। मायागंज अस्पताल के अधीक्षक डॉ. आरसी मंडल ने बताया कि उन्होंने भागलपुर प्रशासन को पत्र लिख स्याही की मांग कर दी है। स्याही मिलते ही होम क्वॉरंटाइन के संदिग्धों के हाथ या कलाई पर ठप्पा लगाने की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। इससे पहले देश के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ऐसे लोगों पर ठप्पा लगाया जाता था जो लोग चीन, ईरान जैसे कोरोना प्रभावित देशों से आये हुए होते थे। अधीक्षक ने बताया कि आइसोलेशन वार्ड में तैनात चिकित्सकों के जरिये शिकायत मिलती थी कि ज्यादातर लोग होम क्वारंटाइन में भेजे गये लोग इस प्रक्रिया का पालन नहीं करते हैं। ऐसे में अगर वे कोरोना पॉजीटिव हो जाते हैं तो अपने परिवार के साथ-साथ कई लोगों को कोरोना बीमारी का शिकार बना सकते हैं। इस तरह की शिकायत अब तक उन्हें 55 से 60 की संख्या में मिल चुकी हैं। पिछले दिनों डीएम प्रणव कुमार जब मायागंज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करने आये थे तो उन्होंने ठप्पा लगाने की सलाह दी थी।

मिटाने से भी नहीं मिटेगा ठप्पा

जी हाँ यह ठप्पा एक बार लगने के बाद, 14 दिनों के बाद ही मिटेगा।

Leave a Reply