Advertisements

Cyclone Titli:’तितली’ के कारण बंगाल-बिहार में भारी बारिश की आंशका, उत्तराखंड में हो सकती है बर्फबारी

A man stands near Arjipalli beach during rain and strong winds caused by cyclonic storm named Titli, or Butterfly near Gopalpur on the Bay of Bengal coast, Ganjam district, eastern Orissa state, India, Thursday, Oct.11, 2018. The severe cyclone damaged mud huts and uprooted trees and electric poles Thursday in eastern India where authorities have moved nearly 300,000 people to higher ground. (AP Photo)

हैदराबाद। चक्रवाती तूफान ‘तितली’ गुरुवार को ओडिशा के गोपालपुर तट से टकराया, जिसकी रफ्तार काफी तेज थी, इसने आंध्र प्रदेश में भी भारी तबाही मचाई है, इसमे यहां के श्रीकाकुलम और विजयनगरम जिले में 8 लोगों को अपना निशाना बनाया है,जबकि इन जिलों में बिजली सेवाएं भी पूरी तरह बाधित हैं। इस तूफान के कारण राज्य के तटीय इलाकों में बारिश हो रही है और इसको लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट भी जारी किया है।अब तक 3 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। ‘तितली’ के कारण बंगाल-बिहार में भारी बारिश की आंशका ‘तितली’ का असर आस-पास के राज्यों में भी दिख रहा है, बंगाल और बिहार में इसकी वजह से भारी बारिश की आशंका हैं तो वहीं इसकी वजह से उत्तराखंड के कुछ इलाकों में भारी बर्फ़बारी हो सकती है। यह भी पढ़ें: आखिर इतने विनाशकारी तूफान का नाम ‘तितली’ क्यों, क्या है चक्रवात का पाकिस्तान से कनेक्शन? उत्तराखंड में हो सकती है बर्फबारी मौसम विभाग के देहरादून केंद्र द्वारा जारी चेतावनी मे बताया गया है कि 3500 फीट के ऊपर वाले स्थानों पर भारी बर्फ़बारी हो सकती है, इसके आलावा कई स्थानों पर बादल छाए रहेंगे और कुछ स्थानों बारिश या ओले पड़ने की भी आशंका है, समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ और देहरादून में भी अगले 24 घंटों में भारी बारिश हो सकती है। ओडिशा के पूरे क्षेत्र में भारी बारिश गौरतलब है कि गोपालपुर के तट से तितली के टकराने सेओडिशा के पूरे क्षेत्र में भारी बारिश हो रही है, माना जा रहा है कि शुक्रवार तक तूफान की रफ्तार में कमी आएगी गौर करने वाली बात ये है कि बीते दो महीने में यह दूसरा खतरनाक तूफान है। बिजली के खंभे उखड़े, यातायात बाधित तूफान से आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में भारी बारिश हुई जिससे सैकड़ों पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए, सड़क मार्ग बड़े पैमाने पर अवरुद्ध हुआ और राज्य सड़क परिवहन निगम ने अपनी बस सेवाएं निलंबित कर दी हैं।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *