लोकसभा चुनाव: 19 मई को EVM में कैद हो जाएगी मोदी कैबिनेट के इन चार चेहरों की किस्मत

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में बिहार की आठ सीटों पर वोटिंग होनी है. इस फेज की वोटिंग में बिहार कोटे से मोदी कैबिनेट में मंत्री बने चार चेहरों की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. बिहार की जिन चार सीटों से मोदी कैबिनेट के मंत्री चुनावी समर में हैं उनमें पटना साहिब सीट से रविशंकर प्रसाद, पाटलिपुत्र सीट से रामकृपाल यादव, आरा सीट से आरके सिंह और बक्सर सीट से अश्विनी कुमार चौबे शामिल हैं.

इन चारों सीटों पर एनडीए का सीधा मुकाबला महागठबंध से है. लड़ाई कितनी तगड़ी है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि चार में से तीन सीटों के लिए पीएम नरेंद्र मोदी खुद चुनाव प्रचार करने आ चुके हैं. मोदी ने अपने मंत्रियों की जीत सुनिश्चित करने के लिए दो दिन बिहार को समय दिया और बक्सर के साथ ही पटना के पालीगंज में भी सभा की. बक्सर की सभा का सीधा असर आरा और बक्सर लोकसभा सीट पर होगा तो वहीं पालीगंज की सभा से पटना साहिब और पाटलिपुत्र के वोटरों को साथ लेने की कोशिश की जा रही है.

2014 के चुनाव की बात करें तो इस चुनाव में सभी प्रत्याशियों को जीत मिली थी लेकिन इस बार की परिस्थितियां, उम्मीदवार और समीकरण सब कुछ बदल चुका है. आरा में जहां आरके सिंह का मुकाबला माले के राजू यादव से है वहीं पटना साहिब सीट से रविशंकर प्रसाद के सामने शत्रुघ्न सिन्हा. पाटलिपुत्र सीट से मुकाबला 2014 की तरह ही चाचा-भतीजी यानी रामकृपाल बनाम मीसा भारती है वहीं बक्सर की लड़ाई में अश्विनी चौबे के सामने जगदानंद सिंह हैं.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *