ममता पर NDA का डबल अटैक, JDU की मांग- बर्खास्त हो बंगाल सरकार

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच अभूतपूर्व टकराव की स्थिति को लेकर  राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) नेताओं ने ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला है.

केंद्रीय कानून मंत्री और पटना साहिब से बीजेपी उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ममता बनर्जी संविधान की धज्जियां उड़ा रही हैं. वहीं दूसरी तरफ जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने मांग की है कि राष्ट्रपति को तुरंत बंगाल में अशांति की स्थिति का संज्ञान लेकर बंगाल सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए.

रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है और ममता बनर्जी अपनी सभी लोकतांत्रिक मर्यादाओं को भूलकर राजनीति कर रही हैं. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जिस तरीके से बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हमला किया गया और बीजेपी के नेताओं को सभाएं करने से रोका जा रहा है, उससे ऐसा लगता है कि ममता बनर्जी एक तानाशाह हो गई हैं.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ममता बनर्जी की पार्टी पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव हार रही हैं, इसलिए हताशा में इस तरीके की हरकत को अंजाम दिया जा रहा है. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ममता बनर्जी का यह कहना कि वह नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री नहीं मानतीं यह उनकी हताशा को दर्शाता है और 23 मई को पश्चिम बंगाल की जनता उन्हें जवाब देगी.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ममता बनर्जी का यह कहना कि नरेंद्र मोदी को देश से बाहर निकाल देना चाहिए दर्शाता है कि उन्हें भाषा, लोकतंत्र और संविधान की मर्यादा की चिंता नहीं है. वहीं दूसरी तरफ जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया और मांग उठाई कि राष्ट्रपति को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए और राज्य सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए. जेडीयू नेता अजय आलोक ने कहा कि राष्ट्रपति को पश्चिम बंगाल में हिंसक स्थिति का संज्ञान लेकर वहां की सरकार को तुरंत बर्खास्त कर देना चाहिए.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के दौरान जमकर बीजेपी और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच में हिंसा को देखने को मिली है, जिसके बाद ममता बनर्जी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर हमलावर हैं.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *