मधुश्रावणी पूजा शुरू, नवविवाहिता 13 दिनों तक करेंगी विशेष पूजा

 

नवविवाहित युवतियों के लिए मधुश्रावणी व्रत सोमवार से शुरू हो गया है। यह पर्व 13 दिनों तक चलेगा। इसका समापन तीन अगस्त हो होगा।

 

इस संबंध में पंडित आरके चौधरी उर्फ बाबा भागलपुर ने बताया कि मधुश्रावणी व्रत जीवन में सिर्फ एक बार शादी होने के बाद पहले सावन को किया जाता है। इस दौरान नवविवाहिता बिना नमक के 13 दिनों तक भोजन ग्रहण करती हैं। तीन अगस्त को विशेष पूजा-अर्चना के साथ इसका निस्तार किया जायेगा।

 

पूजा के दौरान नवविवाहिता व्रत रखकर मिट्टी एवं गोबर से बने विषहरा देवी, भगवान शिव और माता पार्वती का विशेष पूजा कर महिला पुरोहिताइन से कथा सुनती हैं। इस व्रत के द्वारा स्त्रियां अखण्ड सौभाग्यवती के साथ पति की दीर्घायु होने की कामना करती हैं।

 

व्रत के प्रारंभिक दिनों में ही ससुराल पक्ष से पूरे तेरह दिनों के व्रत के सामग्री तथा सूर्यास्त से पूर्व प्रतिदिन होने वाली भोजन की सामग्री भी वहीं से आती है। ससुराल पक्ष के बुजुर्ग लोगों से आशीर्वाद प्राप्त कर पूजन का समापन करती है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *