मंदिर सेवादार की हत्या कर बदमाशों ने 150 साल पुरानी 2 करोड़ रु. की 25 अष्टधातु की मूर्तियां लूटीं

विभूतिपुर थाना क्षेत्र के महथी गांव स्थिति मुरली मनोहर ठाकुरबाड़ी (राधे-श्याम मंदिर) से अपराधियों ने गुरुवार रात 51 बेशकीमती मूर्तियां लूट ली। इनमें 25 अष्टधातु की थी। मूर्तियां 150 साल पुरानी बताई जा रही हैं, जिनकी कीमत 2 करोड़ से अधिक है।

लूट के दौरान सो रहे पुजारी और सेवादार पर बदमाशों ने धारदार हथियार से हमला किया, जिसमें महथी गांव के सेवादार अवधेश प्रसाद सिंह (65) की मौत हो गई। जबकि, घायल पुजारी बेगूसराय जिला के राम कुमार दास (55) को पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। ग्रामीणों को घटना की भनक तब लगी, जब सुबह में मंदिर का बाजा बजते नहीं सुना। कुछ अनहोनी के शक पर लोग मंदिर परिसर में पहुंचे। मंदिर के पीछे में बाहर से ताला लगा था।

 

ग्रामीण मुख्य गेट को तोड़कर अंदर प्रवेश किए। वहां सेवादार अवधेश सिंह मृत पड़ा था और पुजारी राम कुमार दास बेहोश। इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। देर रात करीब 1:00 से 2:00 बजे के बीच में बदमाश पीछे के दरवाजे को तोड़कर मंदिर में प्रवेश किए। पुजारी और सेवादार के विरोध करने पर बदमाशों ने हमला कर मंदिर के गर्भगृह में स्थापित मूर्तियां लूट ली।

150 साल पुरानी राधा-कृष्ण और राम-सीता की 25 अष्टधातु की मूर्तियों का वजन 20 से 25 किलो बताया जाता है। इसी गांव में दो जगहों पर पुराना मंदिर था। पांच साल और 10 साल पहले दोनों जगहों की मूर्तियों को लाकर यही पर स्थापित किया गया था। थानाध्यक्ष अमित कुमार घटना स्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा। रोसड़ा एसडीपीओ अजीत कुमार ने बताया कि मूर्ति लूट मामले की छानबीन में पुलिस और श्वान दस्ता अलग-अलग पड़ताल कर रहे हैं। घटनास्थल पर पुलिस कैंप कर रही है।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *