बंगाल हिंसा: अमित शाह का बड़ा हमला- अंतिम चरण में तो मूकदर्शक ना बना रहे चुनाव आयोग

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का रण बंगाल में हिंसक हो गया है. मंगलवार को कोलकाता में हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में जमकर बवाल हुआ, हिंसा हुई और आगजनी भी हुई. इसी मुद्दे पर बीजेपी आक्रामक है. आज दिल्ली में अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और जमकर ममता बनर्जी पर हमला बोला. इतना ही नहीं अमित शाह ने चुनाव आयोग पर भी पक्षपात करने का आरोप लगाया.

ममता बनर्जी की सरकार पर हमला करते हुए अमित शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले पंचायत चुनाव में भी टीएमसी वालों ने हिंसा की थी. इस दौरान अमित शाह ने चुनाव आयोग पर भी सवाल खड़े कर दिए, उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग मूकदर्शक बनकर बैठा है और टीएमसी हिंसा करती जा रही है. अगर ऐसा ही चुनाव होता रहा तो चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल खड़े होने लगे हैं.

‘खुलेआम धमकियां दे रही हैं ममता बनर्जी’

अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी सार्वजनिक रूप से धमकी दे रही हैं, बदला लेने की बात कर रही हैं और नेताओं को रैलियां करने से रोका जा रहा है. शाह ने ममता को कहा कि आप भले ही आयु में मुझसे ज्यादा हो, लेकिन मुझे अनुभव ज्यादा है.

‘सिर्फ बंगाल में हो रही हैं हिंसा’

BJP अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि बंगाल में जो घटनाएं हुई हैं, उसी की हकीकत बताने आया हूं. देश में कहीं पर भी हिंसा नहीं हो रही है, लेकिन सिर्फ बंगाल में हो रही हैं. शाह ने कहा कि BJP तो पूरे देश में चुनाव लड़ रही है, लेकिन हिंसा सिर्फ बंगाल में हो रही है.

BJP

@BJP4India

वोटबैंक की राजनीति के लिए महान शिक्षाशास्त्री की प्रतिमा का तोड़ने का मतलब है कि टीएमसी की उल्टी गिनती शुरू हो गई: श्री अमित शाह

BJP

@BJP4India

बंगाल में चुनाव आयोग मूक दर्शक बना है। चुनाव आयोग ने तुरंत हस्तक्षेप करना चाहिए।

मैं पूछना चाहता हूं कि क्यों चुनाव आयोग चुप बैठा है?

इन सब के बाद चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल उठ रहे हैं: श्री अमित शाह pic.twitter.com/s6I5dNbMfK

View image on Twitter
122 people are talking about this

विद्यासागर की मूर्ति पर भी दिया जवाब

प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने कहा कि कोलकाता रोड शो में करीब ढाई लाख लोग शामिल हुए, ये सब शांति से चल रहा था. लेकिन बाद में टीएमसी की तरफ से तीन हमले किए गए, इस दौरान अमित शाह ने कुछ तस्वीरें भी साझा कीं और टीएमसी ने हिंसा फैलाई. अमित शाह ने आरोप लगाया कि ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्तियां भी टीएमसी वालों ने ही तोड़ी थीं, हम तो बाहर थे अंदर ही नहीं जा सकते थे.

अमित शाह ने कहा कि जब मेन गेट ही बंद था और बीजेपी वाले बाहर थे, तो कोई अंदर कैसे घुसा और किसने मूर्ति तोड़ दी. ये ही सबूत है कि ईश्वरचंद विद्यासागर की प्रतिमा को टीएमसी वालों ने ही तोड़ा है. बीजेपी अध्यक्ष ने दावा किया कि इस बार TMC बंगाल में चुनाव हार रही है.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *