तिलकामांझी भागलपुर विवि के छात्र संघ अध्यक्ष व एबीवीपी के सदस्य भिड़े

 

स्नातक में नामांकन को निकले छात्र मंगलवार को पहले मेरिट लिस्ट में गड़बड़ी की शिकायत करने सीसीडीसी के पास पहुंचे। इस दौरान छात्र संघ के वर्तमान अध्यक्ष और राजद से जुड़े शांतनु राउत और एबीवीपी के कार्यकर्ता आपस में उलझ गए। बात इतनी बढ़ गई कि दोनों के बीच मारपीट की नौबत आ गई। दोनों ने एक-दूसरे को देख लेने की धमकी दी। इसी दौरान उन लोगों ने फोन से अपने अन्य साथियों को बुला लिया।

 

हालांकि मामला बढ़ जाने पर सीसीडीसी ने दोनों पक्षों को समझाया। प्रतिकुलपति के पास गए छात्रों ने गार्ड से भी हाथापाई कर ली, लेकिन प्रतिकुलपति ने मामला शांत करा दिया। सीसीडीसी के कमरे में पहले से छात्रसंघ अध्यक्ष शांतनु और उसके साथी बैठे थे। इसी दौरान वहां एबीवीपी के कुणाल पांडेय, अभिषेक सहित अन्य सदस्य पहुंचे। शांतनु को देख एबीवीपी सदस्यों ने कहा कि इधर छात्र परेशान हैं और छात्र संघ अध्यक्ष कुर्सी पर बैठे हैं। इस पर शांतनु ने भी आपा खो दिया और मामला बढ़ गया।कहां है छात्र संघ महासचिव एबीवीपी के कार्यकर्ताओं का कहना था कि छात्र संघ अध्यक्ष ने कभी छात्रों की बात नहीं उठाई। बाद में धरने पर बैठे पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष जयप्रीत मिश्रा ने आरोप लगाया कि छात्र संघ अध्यक्ष को केवल अपने पद और छात्र संघ एकाउंट की चिंता रहती है। इस पर शांतनु राउत ने कहा कि छात्र संघ का काम छात्रों की समस्याओं का समाधान बातचीत से करना होता है। इसके लिए हंगामा नहीं होना चाहिए। शांतनु ने पूछा कि छात्र संघ के महासचिव, उपाध्यक्ष (दोनों एबीवीपी समर्थित) यहां क्यों नहीं हैं।

 

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *