Advertisements

जेल की वाच टावर से गूंजने लगी हैलो.. चार्ली स्पीकिंग

भागलपुर। विशेष केंद्रीय कारा और शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा की वाच टावर से अब हैलो चार्ली स्पीकिंग.. एव्री थिंग ओके की आवाज गूंजने लगी है। यह आवाज बीएमपी की महिला बटालियन से तैनात की गई जवानों की है जिन्हें वॉकी-टॉकी से लैस जेल की वाच टावर पर तैनात कर दिया गया है। इन महिला जवानों की अत्याधुनिक इंसास राइफल से चौकसी जेल की मजबूत सुरक्षा को बयां कर रही है। सुरक्षित उंची बनाई गई जेल की दीवार पर बनाए गए वाच टावर से पल-पल की गतिविधियों पर नजर रखी जाने लगी है। यहां तैनात महिला जवान दूसरे वाच टावर पर तैनात साथी और जेल अधिकारियों के बीच सूचनाओं को शेयर कर रही हैं। जेल की उंची दीवार को अब मुख्य जेल भवन की छत के सहारे भी दीवार फांद कर बाहर जाना या किसी तरह अंदर प्रवेश करना संभव नहीं होगा। जेल की दीवार के इर्दगिर्द अंदर और बाहर की गतिविधियों को बारीकी से नजर रखने की व्यवस्था कर दी गई है। रात में ड्रैगन लाइट से रखी जा रही गतिविधियों पर नजर

जेल के अंदर और दीवार के इर्दगिर्द होने वाली तमाम गतिविधियों पर नजर रखने के लिए ड्रैगन लाइट भी लगाया गया है जिससे रात में महिला जवान नजर रख रही हैं। नजर ऐसी कि प¨रदा भी पर नहीं मार सकता। कैंप जेल में 22 जवानों की तैनाती

विशेष केंद्रीय कारा में बीएमपी की महिला बटालियन की 22 जवानों को तैनात किया गया है। इनकी तैनाती वाच टावर के अलावा मैगजीन में भी की गई है। वही शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा में भी महिला जवानों की तैनाती की गई है जिनकी संख्या एक दर्जन से अधिक है।

 

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *