जलसंकट से त्रस्त हैं भागलपुर, खामोश है नगर निगम

 

 

भागलपुर : शहर में व्याप्त जल संकट की चपेट में अब रेलवे भी आ गया है. स्टेशन पर पीने के पानी की घोर किल्लत है. यार्ड सहित प्लेटफॉर्म से लेकर सर्कुलेटिंग एरिया तक में सुखाड़ जैसी स्थिति है. इससे ट्रेनों की धुलाई भी प्रभावित हो रही है. स्थानीय रेलवे अधिकारियों ने मालदा डिवीजन को त्राहिमाम संदेश भेजा है और पूरी स्थिति से अवगत कराया है.

 

बावजूद, इसके समस्या जस की तस है. स्थिति ऐसी है कि विक्रमशिला, जनसेवा व सूरत समेत सभी महत्वपूर्ण ट्रेनें भी पानी भरे बिना ही रवाना हो रही हैं. इन्हें जमालपुर स्टेशन पर रोककर पानी भरना पड़ रहा है. इससे ट्रेनें लेट हो रही हैं. समस्या के पीछे कहानी यह है कि पहले से रेलवे के एक बोरिंग का मोटर जला हुआ है.

 

इसके अलावा चार बोरिंग का लेयर नीचे चला गया है. इससे जलापूर्ति लगभग ठप हो गयी है. इससे उबरने के लिए रेलवे प्रशासन ने नगर निगम से संपर्क किया, तो उन्होंने भी टैंकर से जलापूर्ति के लिए इंकार कर दिया है. हाल अब यह हो गयी है कि मांग-चांग कर पानी का जुगाड़ हो रहा है.

 

डेढ़ लाख यात्री परेशान : भागलपुर स्टेशन पर करीब डेढ़ लाख यात्रियाें की आवजाही होती है, जो इन दिनों पानी के लिए परेशान हो रहे हैं. प्लेटफॉर्म पर भी पानी नहीं है. पेयजल बूथ पर शिफ्ट में पानी की आपूर्ति हो रही है. बूथ पर पानी के लिए अफरा-तफरी की स्थिति बन गयी है.

 

400 फीट गहरे बोरिंग से रुक-रुक कर निकल रहा पानी : स्टेशन एरिया में जलापूर्ति के लिए पांच बोरिंग लगे हैं, जिसमें एक तो जला है. बाकी के चार बोरिंग 400 फीट गहरा है. लेयर नीचे जाने से तीन-चार घंटे में संग्रह पानी ही निकलता है. बोरिंग से रुक-रुक कर मिलने वाले पानी से ज्यादा फर्क नहीं पड़ रहा है. बता दें, कि बोरिंग से रेलवे यार्ड, रेलवे क्वार्टर, प्लेटफॉर्म, स्टेशन, रेल थाना, रेलवे मैकेनाइज्ड लौंड्री में पानी की आपूर्ति होती है.

 

8.75 लाख गैलन की क्षमता वाले सूखे पड़े पांच जलमीनार : बोरिंग से पानी स्टोरेज के लिए 8.75 लाख गैलन क्षमता के पांच जलमीनार है, जो सूखे पड़ गये हैं. भू-गर्भ का जलस्तर गिरने के कारण यह हाल हुआ है. बता दें कि 2.5 लाख के दो, 1.25 लाख के एक, 1.75 लाख का एक और 65 हजार का एक जलमीनार है.

 

शिफ्ट में मिल रहा पेयजल बूथ काे पानी : प्लेटफॉर्म पर लगे पेयजल बूथ पर पानी की आपूर्ति शिफ्ट में किया जा रहा है. एक नंबर प्लेटफॉर्म पर आधा दर्जन के करीब पेयजल बूथ है. एक शिफ्ट में पानी एक बूथ पर आपूर्ति की जा रही है.

 

आज निगम से लिखित में करेंगे टैंकर से जलापूर्ति का निवेदन : नगर निगम से टैंकर से जलापूर्ति के लिए रेलवे ने संपर्क साधा, लेकिन उनके द्वारा इंकार कर दिया गया है. बावजूद, इसके लिखित में टैंकर से जलापूर्ति की मांग की जायेगी.

 

600 फीट के तीन और बोरिंग कराने की होगी कवायद : पानी की समस्या से निजात के लिए रेलवे ने और तीन नये बोरिंग कराने पर विचार-विमर्श करना शुरू कर दिया है. तीनों नये बोरिंग की 600 फीट गहरायी की होगी. इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर मंडल और जोनल मुख्यालय भेजा जायेगा.

 

त्राहिमाम संदेश पर डिप्टी सीओएम ले रहे पल-पल की रिपोर्ट : ागलपुर रेलवे की ओर से जोनल मुख्यालय को त्राहिमाम संदेश भेजने के बाद डिप्टी सीओएम पल-पल की रिपोर्ट ले रहे हैं. गुरुवार दोपहर में खुद उन्होंने फोन कर स्थिति का जायजा लिया. कंट्रोल से भी बार-बार सूचनाएं प्रसारित हो रही थीं.

 

 

 

 

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *