खून से लथपथ था वॉटसन का घुटना, फिर भी CSK की जीत के लिए लड़ते रहे

 

  • आईपीएल सीजन 12 का समापन हो चुका है और खिताबी भिड़ंत में मुंबई ने चेन्नई सुपर किंग्स को एक रन से हरा दिया. लेकिन अब इस रोमांचक मुकाबले की ऐसी कहानी सामने आई है जिससे हर क्रिकेट प्रेमी इस खेल पर गर्व करेगा. ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाज शेन वॉटसन ने फाइनल में 80 रनों की बेजोड़ पारी खेली लेकिन अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके.

  • खून से लथपथ था वॉटसन का घुटना, फिर भी CSK की जीत के लिए लड़ते रहे

    चेन्नई में वॉटसन के साथी क्रिकेटर हरभजन सिंह ने खुलासा किया है कि वॉटसन के पैर में चोट थी और लगातार खून बहने के बावजूद भी वह बल्लेबाजी करते रहे. टीम के स्पिनर हरभजन सिंह ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा शेन वॉटसन के घुटने में काफी गहरी चोट थी और लगातार खून बह रहा था.

  • खून से लथपथ था वॉटसन का घुटना, फिर भी CSK की जीत के लिए लड़ते रहे

    भज्जी ने बताया कि लेकिन वॉटसन ने यह बात टीम के किसी खिलाड़ी को नहीं बताई और वो बल्लेबाजी करते रहे. चेन्नई की टीम को इसके बारे में तब पता चला जब वॉटसन आउट होकर वापस पवेलियन लौट आए. उन्होंने ने बताया कि मैच के बाद वॉटसन के पैर में 6 टांके लगाए गए हैं.

  • खून से लथपथ था वॉटसन का घुटना, फिर भी CSK की जीत के लिए लड़ते रहे
  • खून से लथपथ था वॉटसन का घुटना, फिर भी CSK की जीत के लिए लड़ते रहे

    चेन्नई की ओर से वही एक मात्र ऐसे बल्लेबाज रहे जिसने टीम को जीत दिलाने के लिए आखिर तक संघर्ष किया. लेकिन 20वें ओवर की चौथी गेंद पर वह क्रुणाल पंड्या का शिकार हो गए.

  • खून से लथपथ था वॉटसन का घुटना, फिर भी CSK की जीत के लिए लड़ते रहे

    फाइनल मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस की टीम ने 8 विकेट खोकर 149 रन बनाए. जवाब में चेन्नई 148 रन ही बना सकी. इसी के साथ ही मुंबई चौथी बार आईपीएल का खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई है. चेन्नई को आखिरी ओवर में 9 रन चाहिए थे लेकिन मलिंगा की अनुभवी गेंदबाजी के सामने विपक्षी बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए.

 

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *