आईए जाने राजग प्रत्याशी अजय मंडल की जीत पक्की क्यों है ?

 

प्रोफेसर देव ज्योति मुखर्जी की कलम से..

1) विधानसभा बार : गंगा के इस पार के चारो विधानसभा ( भागलपुर, नाथनगर, पीरपैंती, कहलगांव ) में अजय मंडल की स्वीकार्यता बुलो मंडल से कई गुना अधिक । उस पार के भी गोपालपुर विधानसभा में मै चार दिन विचरण कर जो देख पाया यहाँ भी अजय मंडल बीस , उन्नीस नहीं ( गोपाल मंडल जी के प्रति आभार ) । बिहपुर में अभी भी बुलो मंडल का पल्ला भारी । हालांकि वहाँ भी ई शैलेन्द्र भिड़े हुए हैं और अजय मंडल भी अपना कोशिश चरम पर किया हुआ है ।

 

2) एन डी ए फैक्टर : भाजपा जदयु लोजपा साथ आने से वोट बेस पिछले चुनाव के तुलना में काफी बढ गया और निर्णायक भी हो गया ( मैं जाति-धर्म ले कर बात करता नहीं हूँ और ना ही करूंगा , पर वह भी एन डी ए के पक्ष में ) ।

 

3) नमो फैक्टर : सारा देश नरेन्द्र मोदी पर दांव लगा रहा है, भागलपुर लोकसभा भी पीछे नहीं रहेगा ।

 

4) अगर अजय मंडल पर आरोप लग रहा है की अजय मंडल नाथनगर विधान सभा में समुचित काम नहीं किए हैं ( हालांकी मुख्यमंत्री योजनायों का अच्छा खासा क्रियान्वयन नाथनगर विधान सभा मे ही हुआ है ) , तो यही आरोप बुलो मंडल पर छह के छह विधानसभा पर लग रहा है ।

 

5) युवा वर्ग अजय मंडल के साथ ।

 

6) एंटी एनकाम्बेंसी फैक्टर : वर्तमान सांसद पर नाराजगी ।

 

7) अम्बिका बाबू का गुजर जाना और अब गरीब एवं शोषित वर्ग अजय मंडल को अपना नेता स्वीकार करना ।

 

8)अपने पार्टी से उपर उठ कर सर्वदलीय स्वीकार्यता ।

 

इत्यादि इत्यादि ………

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *